DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महाकुंभ में मुख्य शाही स्नान के लिए सुरक्षा व्यवस्था कडी

प्रसिद्ध तीर्थ नगरी हरिद्वार में जारी महाकुंभ का मुख्य शाही स्नान 14 अप्रैल को होगा लेकिन इससे एक दिन पहले बैशाखी होने के कारण शनिवार से ही यहां श्रद्धालुओं की भीड़ उमडने लगी है। समूचे शहर में इन दिनों पैदल यात्रियों और वाहनों की कतारें देखी जा रही हैं। होटल और धर्मशालाओं तथा आश्रमों में भी हाउस फुल के बोर्ड लटके हुए हैं।

 हरिद्वार में भौगोलिक संरचना इस प्रकार है कि कुछ लाख लोगों की भीड़ होने पर ही यहां भारी भीड़ दिखने लगती है। दोनों ओर पहाड़ हैं तथा बीच में गंगा बहती है। शहर लम्बाई में बसा है जबकि इसकी चौडाई करीब आधा ही किलोमीटर ही है। यहां घरों में मेहमानों की भरमार के कारण हर जगह जाम की स्थिति है। स्थिति को देखते हुए रविवार से ही यहां सभी प्रकार के वाहनों को प्रतिबंधित कर दिया गया है। केवल दोपहिया वाहनों को शहर में प्रवेश करने की इजाजत है। जगह जगह अवरोधक लगाकर केवल पैदल यात्रियों को ही आने जाने की अनुमति है। पैदल यात्रियों को घाटों तक पहुंचाने के लिए सिटी बसों की संख्या बढाने के निर्देश दिए गए हैं। हर की पौडी सहित सभी स्थानों पर पुलिस और अर्धसैनिक बलों को तैनात किया गया है। इसके अतिरिक्त यात्रियों को स्नान के लिए हर की पौडी भेजा जा रहा है।
 
 हरिद्वार आने वाली सभी रेलगाडियां यात्रियों से खचाखच भर कर आ रही हैं। यही आलम बसों का है। शहर में विभिन्न स्थलों पर पार्किग का भी यही हाल है। यात्रियों को वाहन खडा करने की जगह नहीं मिल रही है। इसके अलावा अस्पताल, सरकारी कार्यालय अथवा थाने हों पुरुष, महिला और बच्चों सहित सभी यात्रियों को जहां जगह मिल रही है उन्होंने वहीं डेरा डाल लिया है। भारी संख्या में देशी विदेशी मीडिया ने भी यहां डेरा जमाया है। टेलीवीजन चैनलों ने भी महाकुंभ के सीधे प्रसारण के लिए खास इंतजाम किए हैं। इस बीच मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने भी रविवार शाम बुधवार को होने वाले महाकुंभ के मुख्य शाही स्नान की तैयारियों की समीक्षा की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:महाकुंभ में मुख्य शाही स्नान के लिए सुरक्षा व्यवस्था कडी