DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नक्सलियों के खिलाफ वायु सेना की जरूरत नहीं: वायु सेनाध्यक्ष

नक्सलियों के खिलाफ वायु सेना की जरूरत नहीं: वायु सेनाध्यक्ष

देश की अखंडता के लिए किसी तरह की चुनौती का सामना करने के लिए तैयार रहने की बात कहते हुए वायु सेना ने सोमवार को कहा कि नक्सलियों से लड़ने के लिए वायु सेना के इस्तेमाल का कोई भी निर्णय कम से कम जनहानि की स्पष्ट नीति पर आधारित होनी चाहिए।

वायु सेनाध्यक्ष ने कहा कि उनकी व्यक्तिगत राय है कि माओवादियों से लड़ने के लिए सेना के इस्तेमाल की जरूरत नहीं है।

एयर चीफ मार्शल पी वी नाइक ने कहा कि हम अत्यंत सक्षमता से हमला कर सकते हैं । बहरहाल यह समझा जाना चाहिए कि अगर ढाई सौ किलो का बम किसी जगह पर गिराया जाता है तो इसका प्रभाव कम से कम आठ सौ मीटर के दायरे में होगा और इससे वह लोग भी प्रभावित होंगे जो माओवादी नहीं हैं।

वायु सेना प्रमुख ने कहा कि अगर इस तरह की स्थिति बनती है कि वायु सेना का इस्तेमाल अपरिहार्य है तो जिस सेना के प्रयोग के बारे में हम सोच रहे हैं, उसके आकार के बारे में स्पष्टता होनी चाहिए ताकि जनहानि कम से कम हो।

उन्होंने कहा कि इन सबके बावजूद हम अपने देश में अपने लोगों के खिलाफ लड़ रहे हैं।

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि नक्सलियों से लड़ने में किसी तरह की सहायता के लिए गृह मंत्रालय ने हमसे संपर्क नहीं किया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नक्सलियों के खिलाफ वायु सेना की जरूरत नहीं: वायु सेनाध्यक्ष