DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आईपीएल-3 में सचिन की सेना ने बनाए सबसे तेज अर्धशतक

आईपीएल-3 में सचिन की सेना ने बनाए सबसे तेज अर्धशतक

सुनील गावस्कर से लेकर कपिल देव और हरभजन सिंह तक अगर सचिन तेंदुलकर को आईसीसी टी-20 वर्ल्ड कप के लिए भारतीय टीम में चाहते थे, तो उसका कारण यही है कि इस स्टार बल्लेबाज की मौजूदगी में टीम पर मनोवैज्ञानिक असर पड़ता है। जिसका फायदा टीम को पहुंचता है। यही कारण है कि कप्तान सचिन तेंदुलकर की बदौलत आईपीएल-3 में मुंबई इंडियंस अब तक पावरप्ले का अच्छा फायदा उठाकर सबसे कम ओवरों में 50 रन तक पहुंची है।

मुंबई इंडियंस की टीम ने अब तक 11 मैच में 50 रन तक पहुंचने में औसत 5.4 ओवर लिए हैं जबकि पावरप्ले छह ओवर का होता है। लगातार हार के बाद सेमीफाइनल की दौड़ से बाहर हो चुकी किंग्स इलेवन पंजाब का रिकॉर्ड इस मामले में सबसे पीछे है। उसकी टीम ने 50 रन तक पहुंचने के लिए लगभग 43 गेंद खर्च की।

मुंबई का अगर शुरुआती ओवरों में इतना बढ़िया रिकॉर्ड रहा तो उसका श्रेय तेंदुलकर को जाता है जिन्होंने अब तक 500 से ज्यादा रन बनाए हैं। उनकी टीम ने चार मैच में पांच से भी कम ओवरों में 50 रन की संख्या को छुआ और इनमें से तीन मैच में तेंदुलकर ने क्रमश: 63, 71, और 72 रन की पारियां खेली। तेंदुलकर की टीम कोलकाता नाइटराइडर्स के खिलाफ मुंबई में केवल 26 गेंद पर 50 रन के पार पहुंच गई थी।

सबसे कम गेंद पर पचासा पूरा करने का रिकॉर्ड राजस्थान रॉयल्स के नाम पर है जिसने किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ जयपुर में इसके लिए केवल 23 गेंद खेली। वैसे रॉयल्स की टीम ने एक मैच में 50 रन तक पहुंचने में सबसे ज्यादा गेंदें भी खेली। उसने रॉयल चैलेंजर्स बैंगलौर के खिलाफ बेंगलुरु में 67 गेंद पर पचास रन पूरे किए थे। तब शेन वार्न की अगुवाई वाली टीम सिर्फ 92 रनों पर सिमट गई थी। राजस्थान हालांकि अपने पहले 11 मैचों में औसतन 6.2 ओवर में 50 रन तक पहुंची है।

कोलकाता नाइटराइडर्स और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलौर का रिकॉर्ड भी पावरप्ले में खास नहीं है। ये दोनों टीमें क्रमश: लगभग 6.4 और 6.3 ओवर में पचास रन तक पहुंच पाई हैं। नाइटराइडर्स अपने पहले मैच में तो 50 गेंदों पर 50 रन पूरे कर पाई थी, जबकि आरसीबी ने एक मैच में 53 गेंद खेलकर अर्धशतक पूरा किया था।

अन्य टीमों में मुंबई इंडियंस की तरह दिल्ली डेयरडेविल्स ने भी पावरप्ले का पूरा फायदा उठाया और जमकर रन बटोरे। गौतम गंभीर की अगुवाई वाली टीम भी मुंबई की तरह लगभग 34 गेंद पर पचासे तक पहुंची है हालांकि वह केवल एक मैच में पांच ओवर से पहले इस मुकाम तक पहुंच पाई।

डेक्कन चार्जर्स की टीम अपने शुरुआती दो मैच में क्रमश: 4.5 और 4.3 ओवर में 50 रन तक पहुंच गई थी, लेकिन कप्तान एडम गिलक्रिस्ट की असफलता के कारण इसके बाद उसका पावरप्ले में रिकॉर्ड गड़बड़ाता रहा। उसने 50 रन तक पहुंचने के लिए औसतन छह ओवर खेले हैं। चेन्नई सुपरकिंग्स भी लगभग पावरप्ले के अंदर ही अर्धशतक तक पहुंचती रही है। उसने अब तक 11 मैच में औसतन 37 गेंदों पर शुरुआती 50 रन बनाए।

नाइटराइडर्स और किंग्स इलेवन दो टीमें ही ऐसी हैं जिसने हर मैच में 50 रन तक पहुंचने के लिए पांच से ज्यादा ओवर खेले।

जहां तक सैकड़ा पूरा करने का सवाल है तो राजस्थान रॉयल्स की टीम सबसे कम 51 गेंदों पर 100 रन तक पहुंची है। उसने किंग्स इलेवन के खिलाफ उसी मैच में यह कमाल दिखाया जिसमें वह 23 गेंद पर 50 रन तक पहुंच गई थी।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आईपीएल-3 में सचिन की सेना ने बनाए सबसे तेज अर्धशतक