DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पाक ने की कसाब की औपचारिक मांग

पाकिस्तान ने मुंबई आतंकवादी हमले में एकमात्र जिंदा पकड़े गए आतंकवादी अजमल आमिर कसाब की मांग की है। मुंबई हमलों की गुत्थी को सुलझाने के नाम पर पाक के डिप्टी अटार्नी जनरल ने भारत के सामने कसाब की औपचारिक मांग रखी है। गौरतलब है कि पाकिस्तान ने कसाब समेत कई संदिग्ध आतंकवादियों पर पाकिस्तान में ही मामला दर्ज किया है और इस सबंध में धरपकड़ जारी है। इससे पहले पाकिस्तान ने मुंबई हमले के करीब ढ़ाई माह बाद माना था कि कसाब पाकिस्तानी नागरिक है और इसके बाद पाक ने यह भी मान लिया था कि साजिश उसी की धरती पर रची गई थी। दूसरी तरफ आतंकवाद विरोधी मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष मनिन्दरजीत सिंह बिट्टा अजमल कसाब को पुलिस की बजाए सेना की सुरक्षा में रखे जाने की मांग की है। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल आए बिट्टा ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि पाकिस्तानी और अन्य आतंकवादी संगठन कसाब को नुकसान पहुंचाकर पाकिस्तान के खिलाफ भारत के हाथ आए सबूत को मिटा सकते हैं। उन्होंने कहा कि भारत को अब पाक के खिलाफ सख्त रवैया अपनाना चाहिए, क्योंकि एक बात जाहिर हो चुकी है कि पाकिस्तान भारत में आतंकवाद को बढ़ावा देने में लगा है। बिट्टा देश में बढ़ती आतंकवादी गतिविधियों के लिए राजनीतिक दलों और नेताआें के लचर रवैये को भी जिम्मेदार मानते हैं। बिट्टा ने कहा, ‘‘मुम्बई में हुए आतंकवादी हमले के दौरान भारत सहित अन्य देशों के लोग भी मारे गए थे। यह ऐसा मौका था जब भारत पाकिस्तान के खिलाफ सख्त कार्रवाई कर सकता था। भारत को चाहिए कि मुम्बई की घटना को आधार बनाकर वह अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ऐसा माहौल तैयार करे जिससे पाकिस्तान को आतंकवादी देश घोषित किया जा सके। ’’ न्यूयार्क में महात्मा गांधी की वस्तुओं की नीलामी पर उन्होंने कहा कि यह महात्मा गांधी के सामानों की नहीं बल्कि भारत की नीलामी हो रही है। यह दुखद है कि जिन महात्मा गांधी ने देश के लिए सब कुछ कुर्बान कर दिया उनकी विरासत की आज नीलामी हो रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पाक ने की कसाब की औपचारिक मांग