DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मौसम के बदले हुए तेवर बढ़ा रही मरीजों की संख्या

मौसम के बदलते तेवर के साथ जलजनित बीमारियों ने पैर पसारने शुरू कर दिए हैं। अस्पताल में ओपीडी से लेकर भर्ती होने वाले मरीजों की संख्या में तेजी से वृद्धि हो रही है। सरकारी, गैर सरकारी, क्लीनिकों पर सुबह शाम यह स्थिति बनी हुई है। सफाई को लेकर अफसर शहर में अभियान छेड़ने का बेशक दावा कर रहे हैं। लेकिन मरीजों की बढ़ती तादाद उनकी तैयारियों पर सवाल खड़ा कर रही है।

गर्मी से विषैले जीवाणु सक्रिय हो जाते हैं। इससे उल्टी-दस्त, टायफाइड, हैजा व मलेरिया जैसी बीमारियों के चपेट में आ रहे हैं। बादशाह खान अस्पताल, ईएसआई और निजी अस्पताल में ऐसे मरीजों के आने का सिलसिला जारी है। ऐसे मरीजों से ओपीडी की संख्या में 25 फीसदी का इजाफा हो गया है।

ईएसआई सेक्टर-तीन और आठ अस्पताल में रोजाना 50 से 70 मरीज बढ़ रहे हैं। विशेषज्ञ डॉक्टर मानते हैं कि इस मौसम में खाद्य पदार्थ जल्दी खराब हो जाता है। जहरीले जीवाणु तेजी से बढ़ते हैं। ये जीवाणु कम इम्यूनिटी (बीमारी से लड़ने की क्षमता) वाले लोगों पर अटैक कर चपेट में ले लेते हैं। बच्चों और बुजुर्ग इसकी चपेट में ज्यादा आते हैं। यूं तो इनकी रोकथाम को स्वास्थ्य विभाग कई अभियान चला रहा है लेकिन यह अलग बात है परिणाम बेहतर नहीं आ रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मौसम के बदले हुए तेवर बढ़ा रही मरीजों की संख्या