DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सेहत पर भारी पड़ने लगी कटौती

बिजली की कटौती अब सेहत पर भारी पड़ने लगी है। गर्मी में पारा चढ़ रहा है और बिजली का मीटर डाउन है। रात में चार से छह घंटे बत्ती गुल रहती है। इससे हॉट सिटी के लोग ठीक से सो नहीं पा रहे। बच्चों को स्कूल में पढ़ाई समझ में नहीं आती और बड़ों का आफिस वर्क प्रभावित हो रहा है।

शहर में इस समय दस से बारह घंटे की कटौती हो रही है। कटौती में इनवर्टर जबाव दे जाते हैं। रात को दो घंटे की रोस्टिंग सिस्टम से होती है। लगातार दो घंटे बिजली न आने पर शहरवासी घरों से बाहर निकल आते हैं। नेहरूनगर निवासी प्रवीण कहते हैं कि वह बिजली किल्लत से रातभर सो नहीं पाते। वसुंधरा निवासी जैनेद सोलंकी कहते हैं कि बिजली ने हालत खराब कर दी। सुबह बच्चों को मुश्किल से स्कूल के लिए तैयार करना पड़ता है। कटौती का असर स्कूल और आफिसों में साफ दिखने लगा है।

डॉ.ब्रजपाल त्यागी कहते हैं कि रात को सही नींद न आने पर पूरा दिन प्रभावित होता है। बच्चों स्कूल में ठीक से पढ़ाई नहीं कर पाते। सिरदर्द की शिकायत बढ़ जाती है। पूरे दिन आलस्य बना रहता है। अचानक गर्मी बढ़ी है और शरीर खुद को गर्म मौसम के हिसाब से ढाल रहा है। उसमें बिजली की कटौती ने दिक्कतें बढ़ा दी है।

उधर, विद्युत अफसरों का कहना है कि गर्मी में कटौती और बढ़ सकती है।  शहरवासियों को इस बार ज्यादा कट ङोलना होगा। मांग और आपूर्ति का अंतर धीरे-धीरे बढ़ रहा है। इसका असर मई और जून में ज्यादा दिखाई देगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सेहत पर भारी पड़ने लगी कटौती