DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिजली कटौती से गुस्से में व्यापारी

शहर में घंटों विद्युत कटौती के खिलाफ तराई मर्चेट चैंबर ने भी मोर्चा खोल दिया है। चैंबर से जुड़े व्यवसायियों ने रविवार को विद्युत विभाग का पुतला फूंक कर आक्रोश जताया। उन्होंने आपूर्ति में सुधार न होने पर आंदोलन की चेतावनी दी।

तराई मर्चेट चैंबर से जुड़े व्यवसायी रविवार को अध्यक्ष बलविंदर सिंह के नेतृत्व में गल्ला मंडी में एकत्र हुए। इस दौरान उन्होंने विद्युत विभाग के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और पुतला दहन किया। उनका कहना था कि क्षेत्र में पड़ रही भीषण गर्मी से लोग बेहाल हैं। महिलाओं व बच्चों का गर्मी के चलते घरों से निकलना मुश्किल हो रहा है। ऐसे में बिजली काट देने से उन्हें खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

सुबह से ही कटौती किये जाने से पेयजल की समस्या से भी जूझना पड़ रहा है। उन्होंने विद्युत विभाग के अधिकारियों पर मनमानी का भी आरोप लगाया। उनका कहना था अधिकारी जब-तब बिजली काट दे रहे हैं। कारण पूछने पर तकनीकी फाल्ट व लोड का बहाना बता दिया जाता है।

उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि विभागीय अधिकारियों ने अपने रवैये में सुधार न किया और आपूर्ति सुचारू नहीं की तो विभाग के खिलाफ व्यापक अभियान चलाया जायेगा। पुतला फूंकने वालों में शिवकुमार बंसल, अशोक मित्तल, शिव कुमार गुंबर, योगेंद्र जिंदल, चंदन अग्रवाल, मोहन लाल, अजयं बंसल, राजीव गर्ग, किशन मिगलानी, श्याम घई, बलवंत अरोरा, भोलाराम, प्रह्लाद अग्रवाल, आनंद बिंदल, विजय गर्ग आदि शामिल थे।

बाजपुर। तहसील क्षेत्र के नगरीय और ग्रामीण इलाकों में विद्युत कटौती के चलते लोगों का जीना मुहाल हो गया है और मध्य और लघु उद्योग धंधे बंदी के कगार पर पंहुच गये है। नागरिकों में कटौती पर भारी आक्रोश है। साथ ही बेवख्त की कटौती से चोर उच्चके सक्रिय हो गये हैं। पिछले काफी समय से तहसील क्षेत्र में विद्युत आपूíत नाम मात्र की हो रही है।

दिन निकलते ही आपूíत ठप हो जाती है। इसके अतिरिक्त आपूíत के समय उपभोक्ताओं को तकनीकी खराबी का खामियाजा भुगना पड़ रहा है। इससे लोगों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। कटौती के कारण लघु और मध्यम दर्जे के उद्योग धंधे चौपट हो गये हैं। परेशानी के चलते लोगों में विभाग के प्रति भारी आक्रोश व्याप्त है।

कटौती से नगर क्षेत्र के साथ ही लगभग तीन दजर्न ग्राम सभा के लोग प्रभावित हैं। तहसील क्षेत्र के गांव गोबरा, जोगीपुरा, बन्नाखेड़ा आदि क्षेत्रों के उपभोक्ताओं ने प्रतिदिन लगभग 12 घंटे की विद्युत कटौती पर आक्रोश व्यक्त करते हुए व्यवस्था सुचारू न होने पर उग्र आन्दोलन की चेतावनी दी है।

रोष जताने वालों में धरम सिंह, लखविंद्र सिंह, मुखविंद्र सिंह, सेवा सिंह, मोहन सिंह, सतनाम सिंह, जगीर सिंह, सुरेंद्र सिंह, बलविंद्र सिंह, रनजीत सिंह, पूरन सिंह, हरि सिंह, नारायण सिंह आदि शामिल हैं। इधर एसडीओ केके पंत ने स्थानीय स्तर पर कटौती से इंकार किया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बिजली कटौती से गुस्से में व्यापारी