DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब पंजाब ने बिगाड़ा दिल्ली का खेल

अब पंजाब ने बिगाड़ा दिल्ली का खेल

सेमीफाइनल की दौड़ से पहले ही बाहर हो चुकी किंग्स इलेवन पंजाब ने इंडियन प्रीमियर लीग में विरोधी टीमों के समीकरण बिगाड़ने का सिलसिला जारी रखते हुए रविवार को दिल्ली डेयरडेविल्स को अपनी जद में लेकर सात विकेट से धमाकेदार जीत दर्ज की।

कोलकाता नाइटराइडर्स का गणित बिगाड़ने और अंक तालिका में चोटी पर चल रही मुंबई इंडियन्स को झटका देने के बाद किंग्स इलेवन ने रविवार को डेयरडेविल्स की राह में रोड़ा अटकाया। गौतम गंभीर की अगुवाई वाली टीम 11 मैच में 12 अंक लेकर अब भी तीसरे नंबर पर काबिज है लेकिन आज की हार के बाद उसके लिए आगे की राह कठिन बन गई है। किंग्स इलेवन के 12 मैच में आठ अंक हैं।

किंग्स इलेवन ने मैच में शुरू से ही शिकंजा कस दिया था। फिरोजशाह कोटला पर गंभीर का टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला सही साबित नहीं हुआ और उनकी टीम 19.4 ओवर में 111 रन पर सिमट गई जो आईपीएल में उसका न्यूनतम स्कोर भी है। उसकी तरफ से गंभीर और मिथुन मन्हास (दोनों 26) ही कुछ रन बटोर पाए जबकि किंग्स इलेवन के लिए इरफान पठान ने 24 रन देकर तीन और पीयूष चावला ने 16 रन देकर दो विकेट लिए।

सलामी बल्लेबाज महेला जयवर्धने (38) और कप्तान कुमार संगकारा (33) की पारियों से पंजाब की टीम ने आसानी से 18.4 ओवर में तीन विकेट पर 112 रन बनाकर डेयरडेविल्स से अपने शुरुआती मैच में मिली हार का बदला चुकता किया। चावला को उनकी शानदार गेंदबाजी के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया।

किंग्स इलेवन पंजाब की टीम जब बल्लेबाजी के लिए उतरी तो उसके पास गेंद अधिक और लक्ष्य कम था जिसे उसने आखिर तक बरकरार रखा। जयवर्धने और इरफान पठान (12) ने किसी तरह की हड़बड़ी नहीं दिखाई और पावरप्ले के छह ओवर में 39 रन जोड़े।

जयवर्धने ने हमवतन श्रीलंकाई फारवेज महरूफ की लगातार गेंद पर चौका और छक्का जमाया लेकिन पठान अपने तेवरों को दिखाने में नाकाम रहे और अमित मिश्रा की गेंद पर रजत भाटिया को कैच देकर पवेलियन लौट गए।

आईपीएल थ्री में अपना पहला मैच खेल रहे आशीष नेहरा ने उंगलियों के सहारे जयवर्धने का कैच लिया लेकिन इससे किंग्स इलेवन पर कोई असर नहीं पड़ा क्योंकि संगकारा दूसरा छोर संभाल चुके थे। जयवर्धने ने 35 गेंद की अपनी पारी में चार चौके और एक छक्का लगाया।

जब जीत के लिए दो रन की दरकार थी तब कोलिंगवुड ने संगकारा को बोल्ड करके अपना दूसरा विकेट लिया। किंग्स इलेवन के कप्तान ने 30 गेंद खेली तथा चार चौके लगाए। युवराज सिंह ने भी 25 गेंद पर नाबाद 21 रन बनाए जिसमें भाटिया की गेंद पर लगाया गया छक्का भी शामिल है।

इससे पहले टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी के लिए उतरी डेयरडेविल्स की टीम ताश के पत्तों की तरह बिखर गई।

डेयरडेविल्स की मजबूत बल्लेबाजी किसी भी समय अपने टच में नहीं दिखी और दस ओवर तक उसकी आधी टीम पवेलियन लौट गई थी जबकि तब स्कोर केवल 63 रन था। दिल्ली ने आईपीएल में अपना न्यूनतम स्कोर बनाया।

डेविड वार्नर (6) ने रमेश पोवार पर चौका जमाकर पारी की शुरुआत की लेकिन पठान ने अगले ओवर की पहली गेंद पर वीरेंद्र सहवाग को आउट कर दिया। नए बल्लेबाज कप्तान गौतम गंभीर (26) ने पठान के इसी ओवर में तीन चौके जड़े और फिर एबलिश पर भी लगातार दो चौके जमाए।

किंग्स इलेवन के शानदार क्षेत्ररक्षण से हालांकि डेयरडेविल्स के दो बल्लेबाज रन आउट होकर पवेलियन लौट गए और उसका स्कोर तीन विकेट पर 41 रन हो गया। विकेटकीपर कुमार संगकारा ने तेजी दिखाकर गंभीर को रन आउट किया। यह लगातार तीसरा अवसर है जबकि गंभीर रन आउट होकर पवेलियन लौटे। इसके एक गेंद बाद संगकारा और करण गोयल ने मिलकर वार्नर को भी रन आउट कर दिया।

चावला ने इसके बाद पाल कोलिंगवुड (4) और डेनियल विटोरी (2) को आउट किया। दिनेश कार्तिक (17) से अच्छी पारी की आशा थी लेकिन वह भी देर तक नहीं टिक पाए और पठान की गेंद पर लांग आन क्षेत्र में महेला जयवर्धने को कैच देकर पवेलियन लौटे।

युवराज ने रजत भाटिया को रीतेंदर सिंह सोढ़ी के हाथों कैच कराकर आईपीएल थ्री का पहला विकेट लिया जबकि एबलिश ने फारवेज महरूफ को मिडिल स्टंप उड़ाया। मिथुन मन्हास ने जुआन थेरोन की गेंद पर बोल्ड होने से पहले 26 रन की पारी खेली जबकि अमित मिश्रा दस रन बनाकर नाबाद रहे जिससे दिल्ली की टीम सैकड़े तक पहुंच पाई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अब पंजाब ने बिगाड़ा दिल्ली का खेल