DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दबाव लिए बगैर खेलना चाहती हूं: सायना

दबाव लिए बगैर खेलना चाहती हूं: सायना

एशियाई बैडमिंटन चैम्पियनशिप के महिला एकल वर्ग में शीर्ष वरीयता हासिल करने वाली भारत की नंबर एक खिलाड़ी सायना नेहवाल ने स्वीकार किया कि यहां 12 अप्रैल से शुरू हो रही प्रतियोगिता के दौरान उन पर घरेलू समर्थकों की अपेक्षाओं और शीर्ष वरीयता का दबाव होगा लेकिन वह इससे खुद को परे रखकर अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने की कोशिश करेंगी।

सायना ने कहा कि उनकी ट्रेनिंग और तैयारी काफी अच्छी रही है और उन्हें टूर्नामेंट के दौरान अच्छे प्रदर्शन का भरोसा है। भारत की नंबर एक महिला खिलाड़ी ने कहा कि मेरी तैयारी काफी अच्छी रही है और मैं पूरी तरह फिट हूं। प्रतियोगिता में काफी कड़ा मुकाबला देखने को मिलेगा। उम्मीद करती हूं कि मैं अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने में कामयाब रहूंगी।

उन्होंने हालांकि स्वीकार किया कि घरेलू दर्शकों की मौजूदगी में खेलने का दबाव रहेगा तो उन्होंने कहा कि देश में खेलने पर हमें अच्छा समर्थन मिलेगा लेकिन इससे तनाव भी बढ़ेगा। मैं यह सोचकर नहीं खेलना चाहती कि मैं भारत में खेल रही हूं क्योंकि इससे थोड़ा दबाव पड़ता है।

दुनिया की छठे नंबर की खिलाड़ी सायना ने कहा कि शीर्ष वरीयता का भी थोड़ा दबाव रहेगा लेकिन मैं इन सभी बातों को भूलकर टूर्नामेंट में सभी विरोधी खिलाड़ियों को कड़ी टक्कर देना चाहती हूं। मैं पूरी तरह फिट हूं और अपनी फार्म को लेकर आश्वस्त हूं।

सायना पिछले कुछ समय से बेहतरीन फार्म में चल रही है। उनकी अगुआई में भारतीय महिला टीम ने उबेर कप के फाइनल में प्रवेश किया जबकि वह पिछले महीने प्रतिष्ठित आल इंग्लैंड बैडमिंटन चैम्पियनशिप के सेमीफाइनल तक पहुंचने में सफल रही।

सायना ने साथ ही कहा कि एशियाई चैम्पियनशिप भारत में ही तीन से 14 अक्टूबर तक होने वाले राष्ट्रमंडल खेलों के लिए काफी अहम है जो उनकी नजर में काफी महत्वपूर्ण प्रतियोगिता है। हैदराबाद की इस खिलाड़ी ने कहा कि मेरा ध्यान राष्ट्रमंडल और एशियाई खेलों पर हैं जो मेरे लिए काफी अहम टूर्नामेंट हैं।

बीजिंग में ओलंपिक के क्वार्टर फाइनल में पहुंचने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी सायना ने प्रतियोगिता के लिए ड्रा को कुल मिलाकर अच्छा बताया लेकिन कहा कि उनका पहले दौर का मुकाबला काफी कड़ा होगा। उन्होंने कहा कि पहले दौर में मुझे थाईलैंड की पी बुरानाप्रासेरत्सुक से भिड़ना है। यह काफी कड़ा मैच होगा। वह मेरी तरह ही युवा खिलाड़ी है और मुझे कड़ी टक्कर दे सकती है।

सुपर सीरीज टूर्नामेंट जीतने वाली भारत की पहली और एकमात्र महिला खिलाड़ी साइना ने कहा कि उनके नजरें फिलहाल पहले दौर के मैच पर हैं और वह इससे आगे नहीं सोच रही।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दबाव लिए बगैर खेलना चाहती हूं: सायना