DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एफओएफएसजे ने जताया एतराज

फोरम ऑफ एकेडेमिक्स फॉर सोशल जस्टिस ने दिल्ली विश्वविद्यालय के सहायक कुलसचिव द्वारा दी गई गलत सूचना पर आपत्ति दर्ज की है। उनके अनुसार डीयू ने अनुसूचित जाति/जनजाति के 53पद दिखाए हैं जबकि यह संख्या 72 बनती है जिसमें 19 पदों का बैकलांग बनता है। फोरम के चेयरमैन हंसराज सुमन व डा. के.पी.सिंह ने बताया कि डीयू से संबद्ध 80 कॉलेजों में आठ हजार शिक्षक कार्यरत है जिसमें अनुसूचित जाति/जनजाति, पिछड़े वर्गों तथा विकलांगों का आरक्षण कोटा अभी तक पूरा नहीं किया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एफओएफएसजे ने जताया एतराज