अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

व्यापारियों को नहीं देना होगा दोबारा टैक्स

सरकार ने कहा कि व्यापारियों को अब माल के प्रवेश पर दोबारा टैक्स नहीं देना होगा। यदि वे एक बार टैक्स दे चुके हैं तो केवल घोषणा पत्र देकर काम चल जाएगा। व्यापारियों की सुविधा के लिए लाए गए स्थानीय क्षेत्र में माल के प्रवेश पर कर (संशोधन) विधेयक सहित तीन विधेयक बुधवार को विधानसभा में ध्वनिमत से पारित हो गए। अन्य पारित विधेयकों में डा.भीमराव अंबेडकर सामाजिक परिवर्तन स्थल निरसन विधेयक और शीरा नियंत्रण (संशोधन) विधेयक शामिल हैं।ड्ढr संसदीय कार्य मंत्री लालजी वर्मा ने डा.भीमराव अंबेडकर सामाजिक परिवर्तन स्थल निरसन विधेयक सदन में रखा। यह विधेयक डा.भीमराव अंबेडकर सामाजिक परिवर्तन स्थल एक्ट-2007 को समाप्त करने के लिए लाया गया है। इस एक्ट के तहत सामाजिक परिवर्तन स्थल के संरक्षण, विकास, सुरक्षा और रखरखाव के लिए मैनेजमेंट बोर्ड गठित किया गया था। इस एक्ट की वैधता को रिट याचिका के जरिए हाईकोर्ट में चुनौती दी गई थी। एक्ट के प्रावधानों का परीक्षण करने के पश्चात महाधिवक्ता और न्याय विभाग ने इस एक्ट को समाप्त करने की राय दी। साथ ही कहा कि इसके स्थान पर नया संशोधित एक्ट बनाया जाए। इसलिए इस एक्ट को समाप्त करने का फैसला किया गया।ड्ढr कर एवं निबंधन मंत्री नकुल दुबे ने स्थानीय क्षेत्र में माल के प्रवेश पर कर (संशोधन) विधेयक पेश करते हुए कहा कि इसे व्यापारियों की सुविधा के लिए लाया गया है। कई धाराओं में केवल इसलिए परिवर्तन किया है कि स्थानीय क्षेत्र में माल के प्रवेश पर जिस व्यापारी ने पहली बार टैक्स दे दिया है, उसे दोबारा टैक्स नहीं देना होगा। उसके द्वारा यह कहे जाने पर कि उसने टैक्स चुका दिया है, मान लिया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: व्यापारियों को नहीं देना होगा दोबारा टैक्स