DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारत और पाकिस्तान से परमाणु प्रतिरोधक संतुलन प्रभावित : हिलेरी

भारत और पाकिस्तान से परमाणु प्रतिरोधक संतुलन प्रभावित : हिलेरी

अमेरिकी विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन ने आज कहा कि भारत और पाकिस्तान जिस तरह से परमाणु हथियारों की ओर अग्रसर हुए हैं उससे परमाणु प्रतिरोधक संतुलन प्रभावित हुआ है और अमेरिका दोनों देशों के साथ काम कर रहा है ताकि उनके परमाणु हथियारों की संख्या को सीमित किया जा सके।
    
हिलेरी ने लुइसविले विश्वविद्यालय में कहा, "परमाणु अप्रसार संधि के लिए तीन स्तंभ हैं। पहला निरस्त्रीकरण है, दूसरा अप्रसार है जबकि तीसरा असैनिक उददेश्यों के लिए परमाणु उर्जा का शांतिपूर्ण इस्तेमाल है।"
    
उन्होंने कहा, "ऐसे में अमेरिका रूस के साथ मिलकर अपनी इच्छा प्रदर्शित करता रहेगा, क्योंकि हमारे पास अन्य देशों की तुलना में कहीं अधिक हथियार हैं आप जानते हैं कि यह अंतर काफी अधिक है।" वह केंटकी में  नो ग्रेटर डेंजर: प्रोटेक्टिंग आवर नेशन एंड एलायज फ्राम न्यूक्लियर टेरोरिज्म एंड न्यूक्लिर प्रोलिफेरेशन विषय पर बोल रही थीं।

हिलेरी ने कहा, "भारत और पाकिस्तान जैसे देश इस प्रकार परमाणु हथियारों की ओर अग्रसर हुए हैं, उससे परमाणु प्रतिरोधक संतुलन बिगड़ गया है। उन्होंने यह भी कहा कि यही वजह है कि हम दोनों देशों के साथ मेहनत से काम कर रहे हैं ताकि परमाणु हथियारों की संख्या में कमी आ सके। अगले हफ्ते दोनों देशों के साथ वाशिंगटन में बातचीत की जाएगी।
     
प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह अमेरिकी राष्ट्रपति द्वारा अगले हफ्ते आयोजित परमाणु सुरक्षा सम्मेलन में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे। इस बैठक में पाकिस्तानी प्रधानमंत्री यूसुफ रज़ा गिलानी सहित 40 देशों के नेता शामिल होंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भारत और पाकिस्तान से परमाणु प्रतिरोधक संतुलन प्रभावित : हिलेरी