DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रातोंरात करोड़पति बनने के लालच में गंवाए 35 हजार

कहा जाता है कि लालच बुरी बला है। इसी लालच के चलते यहां एक व्यक्ति को रातोंरात करोड़पति बनने के चक्कर में कई हजार रूपए गंवा देने पड़े और अंत में जब उसे पता चला कि वह ईमेल और एसएमएस के जरिए लोगों को झांसा देने वाले एक विदेशी फर्जी लॉटरी गिरोह का शिकार बन गया है तो उसके हाथों से तोते उड़ गए।

देश के इस प्रमुख औद्योगिक नगर में ठगी का शिकार हुए अच्युतानंद बारिक ने शुक्रवार को यहां साकची थाने में दो कथित ब्रिटिश नागरिकों डेविड फुलर और स्टीवन क्रीस समेत चार लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कराया है। पुलिस ने शनिवार को बताया कि बारिक के मोबाईल फोन पर पिछले माह के अंतिम सप्ताह में एक एसएमएस और ईमेल आया जिसमें कहा गया था कि उन्होंने दस लाख ब्रिटिश पाउंड लगभग आठ करोड़ रूपए का ईनाम जीता है। बाद में उन्हें फोन भी आया और बधाई देते हुए उनसे कस्टम एवं सीमा शुल्क क्लियरेंस के लिए 35000 रूपए की मांग की गई।

करोड़पति बनने की लालच में बारिक ने यह पैसे दिल्ली में आईसीआईसीआई बैंक के एक खाते में भेज दिए। तब उन्हें बताया गया कि उन्हें ईनाम देने के लिए ब्रिटिश उच्चायोग के एक अधिकारी स्टीवन क्रीस 30 मार्च को दिल्ली पहुंच रहे हैं। इसके बाद बारिक को बताया गया कि क्रीस दिल्ली पहुंच गए हैं। लेकिन जब उनसे इतनी बड़ी रकम के मामले में संयुक्त राष्ट्र संघ आतंकवाद निरोधक विभाग से क्लियरेंस के लिए लगभग ढाई लाख रूपए और देने की मांग की गई तब उन्हें संदेह हुआ।

बारिक ने जब अधिक पूछताछ की तो उन्हें धमकी दी जाने लगी। थक हार कर उन्होंने पुलिस को मामले की जानकारी दी। पुलिस छानबीन कर रही है लेकिन उसका मानना है कि यह कारगुजारी पहले से सक्रिय उस विदेशी गिरोह की हो सकती है जिसके कई नाइजीरियाई सदस्य हाल में पकड़े गए हैं। बहरहाल रातों रात करोड़पति बनने के चक्कर में गाढ़ी कमाई के 35 हजार गंवा चुके बारिक अब अपने लालच पर पछता रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रातोंरात करोड़पति बनने के लालच में गंवाए 35 हजार