DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

3जी नीलामी के पहले दिन जबर्दस्त उत्साह

3जी नीलामी के पहले दिन जबर्दस्त उत्साह

दूरसंचार विभाग की तीसरी पीढ़ी की मोबाइल सेवाओं (3जी) की स्पेक्ट्रम नीलामी के पहले दिन शुक्रवार को मोबाइल आपरेटरों की तरफ से जोरदार उत्साह देखने को मिला।

सरकार ने हालांकि इसके अखिल भारतीय संचालन का 3500 करोड़ रुपये का आरक्षित मूल्य रखा है। दूरसंचार विभाग (डीओटी) की वेबसाइट पर दी गई सूचना के अनुसार नीलामी के पांच दौर पूरे हो चुके है।

कंप्यूटर नेटवर्क के जरिए की जा रही इस आनलाइन नीलामी में भारती एयरटेल, वोडाफोन, आइडिया, रिलायंस कम्युनिकेशंस और टाटा टेलि सविर्सिज सहित सभी नौ कंपनियां भाग ले रही है।

दिल्ली सर्किल के लिए 320 करोड़ रुपये का आरक्षित मूल्य रखा गया है। इसके लिए सभी बोलीकर्ताओं में सबसे ज्यादा रूचि देखी गई और पांचवें राउंड में इसके लिए सर्वाधिक 373. 29 करोड रुपये की बोली लगी थी। मुंबई और महाराष्ट्र का इसके बाद दूसरा स्थान रहा जिसके लिए 362. 66 करोड रुपये का बोली मूल्य लगा। देश के नौ सर्किल ऐसे भी थे जिनके लिए कोई मांग नहीं थी। बोलियां अस्थाई बताई गई हैं।

सरकारी अधिकारियों से संपर्क करने पर उन्होंने कहा दूरसंचार आपरेटरों के उत्साह को देखते हुए लगता है नीलामी प्रक्रिया 10 से 12 दिन चल सकती है।  नीलामी प्रक्रिया में किसी प्रकार की अड़चन के बारे में पूछे जाने पर अधिकारियों ने कहा प्रक्रिया पूरी तरह से सामान्य ढंग से आगे बढ़ी है।

सरकार ने 3जी स्पेक्ट्रम और ब्राडबैंड वायरलेस एक्सेस (बीडब्ल्यूए) सेवाओं से 35000 करोड़ रुपये की राजस्व प्राप्ति का लक्ष्य रखा है। संचार मंत्री ए राजा ने हालांकि कहा कि 3जी स्पेक्ट्रम प्राप्ति के लिए दूरसंचार आपरेटरों की होड़ को देखते हुए लगता है कि इससे 40 हजार करोड़ रुपये तक की प्राप्ति हो जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:3जी नीलामी के पहले दिन जबर्दस्त उत्साह