DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रेलवे स्टेशन पर भी नहीं है पानी यात्री रहते हैं बेहाल

गाजियाबाद जंक्शन रेलवे स्टेशन पर पानी की किल्लत से यात्री बेहाल हैं। प्लेटफार्मो पर लगे अधिकांश पानी की टोंटियां सूखे पड़े हैं, वाटर कूलर अब तक चालू ही नहीं किया गया है। प्लेटफार्म के अलावा प्रतीक्षालय व आरक्षण परिसर में भी पीने के पानी की कोई व्यवस्था है।

अचानक मौसम के करवट लेने के बाद भी रेल प्रशासन अभी तक नहीं जागा है। इससे रोजाना हजारों यात्रियों को पीने के पानी के लिए तरसना पड़ता है।

जंक्शन रेलवे स्टेशन पर वैसे तो साल के आठ महीने पानी की किल्लत रहती है। दिल्ली से सटे एवं ओद्यौगिक नगरी होने के कारण इस स्टेशन पर 24 में से 20 घंटे तक यात्रियों का जबरदस्त दबाब रहता है।

दैनिक यात्रियों की संख्या ही लगभग लाख में है, जबकि लंबी दूरी के यात्रियों की संख्या भी इससे कम नहीं है। लेकिन स्टेशन के किसी भी प्लेटफार्म पर यात्रियों के लिए पानी की समुचित व्यवस्था नहीं है।

कहीं-कहीं एक दो स्टैंड पोस्ट बने भी है तो उसमें गरम पानी ही निकलता है। जो कि ऐसे मौसम में आप पी नहीं सकते। प्लेटफार्म नंबर 3 व 4 के बीच बड़ा वाटर कूलर लगाया तो है लेकिन वह खराब पड़ा है।

टोंटी तब गायब है। प्लेटफार्म नंबर पांच व छह पर ठंडे पानी की बात तो दूर कई स्टैंडपोस्ट के लगी टोंटियों में पानी है ही नही। प्लेटफार्म नंबर एक व दो पर दो-चार स्टेंडपोस्ट के नल चालू हैं जिसपर गरम पानी के लिए भी दबाब रहता है।

ऐसे में पानी की किल्लत से रोजाना हजारों रेल मुसाफिरों को जूझना पड़ता है। जिसका फायदा बोतलबंद पानी वाले उठाते हैं। रेल नीर के अलावा कई ब्रांड के लेबल लगे बोतलों के कारोबारी इसका फायदा उठाते हैं।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रेलवे स्टेशन पर नहीं है पानी यात्री रहते हैं बेहाल