DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दंतेवाड़ा हमला: छह नक्सली भी मारे गए थे

नक्सलवादियों ने स्वीकार किया है कि छत्तीसगढ के दंतेवाड़ा जिले के घने जंगलों में गत छह अप्रैल को सीआरपीएफ जवानों पर किए गए हमले में उनके आठ कार्यकर्ता भी मारे गए थे।

प्रतिबंधित संगठन भाकपा माओवादी की दंडकारण्य स्पेशल जोनल कमेटी ने एक विज्ञप्ति में पीपल्स लिबरेशन गुरिल्ला आर्मी (पीजीएलए) द्वारा अंजाम दिए गए हमले की इस कार्रवाई में अपने आठ कार्यकर्ताओं के मारे जाने की बात स्वीकार की है। मारे गए कार्यकर्ताओं के नाम सेक्शन कमांडर रूकमति और वागाल, सेक्शन उप कमांडर विज्जल और इंगाल, सदस्य राजू, मंगू, रामाल और रतन हैं।

विज्ञप्ति के अनुसार बस्तर में अंग्रेज शासकों के खिलाफ किए गए आंदोलन भूमकाल की शताब्दी के मौके पर नक्सलवादियों ने सुरक्षाबल पर यह हमला आपरेशन ग्रीन हंट के नाम पर की जा रही पुलिस ज्यादतियों का जवाब देने के इरादे से किया था। इस कार्रवाई में उनके 300 लड़ाकों ने भाग लिया था।

वैसे, ऐसा अनुमान लगाया जा रहा था कि इस कार्रवाई में करीब एक हजार नक्सली शामिल थे। दंडाकरण्य विशेष जोनल कमेटी के सदस्य रामन्ना, सचिव कोसा और प्रवक्ता गुडसा उसेण्डी के हस्ताक्षर युक्त विज्ञप्ति में दावा किया गया है कि पूरे बस्तर वनांचल को बहुराष्ट्रीय कंपनियों और बड़े पूंजीपतियों की जागीर बनाने के इरादे से संप्रग सरकार ने दोबारा सत्ता में आने के बाद क्रांतिकारियों के सफाये के लिए अभियान चलाया है। उनका दावा है कि इस अभियान के नाम पर पुलिस आदिवासियों पर लगातार अत्याचार कर रही है।

विज्ञप्ति में आपरेशन ग्रीन हंट में सेना की सहायता से इंकार करने के सरकारी बयान को गलत बताते हुए कहा गया है, जहां तक इस सरकारी आपरेशन में सेना की भूमिका की बात है। परोक्ष रूप से तो उसकी दखल चार साल पहले से ही शुरू हो चुकी है। सेना के अधिकारी यहां के पुलिस व अर्ध सैनिक बलों को जंगल युद्ध का प्रशिक्षण दे रहे हैं।

आश्चर्य की बात है कि संगठन ने मारे गए सुरक्षाकर्मियों के परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की है। विज्ञप्ति में कहा गया है कि हम इस मौके पर इस घटना में मृत पुलिस बलों के परिवारों के प्रति सहानुभूति प्रकट करते हैं और उनसे अपील करते हैं कि वे यह समझें कि हमें यह कदम किन हालात में उठाना पड़ रहा है। हम तमाम पुलिस व अर्ध सैनिक बलों के जवानों और निम्न श्रेणी के अफसरों से अपील करते हैं कि वे जनता के खिलाफ जंग न लड़ें, पाशविकता न बरतें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दंतेवाड़ा हमला: छह नक्सली भी मारे गए थे