DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महिलाओं में एचआईवी संक्रमण के तरीके का पता लगा

महिलाओं में एचआईवी संक्रमण के तरीके का पता लगा

महिलाओं में एचआईवी संक्रमण के प्रसार को रोकने की दिशा में बड़ी चिकित्सकीय सफलता में वैज्ञानिकों संक्रमण की गुत्थी सुलझा ली है।

वैज्ञानिकों का दावा है कि उन्होंने इस गुत्थी को सुलझा लिया है संक्रमण से रक्षा करने वाली एपिथिलियल कोशिकाओं को एचआईवी के विषाणु किस प्रकार भेद देते हैं और महिलाओं प्रजनन मार्ग में प्रवेश कर जाते हैं।

मैकमास्टर विश्वविद्यालय के चारू कौशिक ने कहा, एपिथिलियल कोशिकाओं के इलेक्ट्रिकल प्रतिरोध को यह (एचआईवी विषाणु) कम कर देता है। चारू इस अध्ययन की प्रमुख हैं।

पब्लिक लाइब्रेरी आफ साइंस पैथोजन जर्नल में एक अध्ययन प्रकाशित हुआ है जिससे लगता है कि महिलाओं की आंत और प्रजनन नली में पाये जाने वाले सुरक्षात्मक म्यूकोसल प्रतिरोध को एचआईवी तहस नहस कर देता है जिससे यौन संबंधों के दौरान विषाणु शरीर में पहुंच जाता है।

अनुसंधानकर्ताओं ने कहा कि लगता है कि यह विखंडन एचआईवी के जवाब में एपिथिलियली कोशिकाओं से जन्मे सूजन के कारकों के कारण होता है। इस सूजन के कारण एपिथिलियली कोशिकाओं की संधि टूट जाती है और शरीर के भीतर अन्य सूक्ष्मजीवों का प्रवेश संभव हो पाता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:महिलाओं में एचआईवी संक्रमण के तरीके का पता लगा