DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एडमंड हिलेरी की अस्थियां एवरेस्ट पर नहीं बिखरेंगी

एडमंड हिलेरी की अस्थियां एवरेस्ट पर नहीं बिखरेंगी

विश्व की सबसे ऊंची पर्वत श्रंखला माउंट एवरेस्ट पर पहली बार पताका फहराने वाले सर एडमंड हिलेरी की अस्थियों को एवरेस्ट पर बिखेरने की बजाए इसके नजदीक बने स्मारक में रखा जाएगा।
 
नेपाल के तेनजिंग नार्गे शेरपा के साथ 1953 में एवरेस्ट के शिखर पर पहुंचने वाले हिलेरी का 88 वर्ष की उम्र में न्यूजीलैंड में 2008 में निधन हो गया था। उन्होंने अपनी अस्थियों को दुनिया की सबसे ऊंची चोटी के साथ ही आकलैंड के बंदरगाह पर बिखेरने की इच्छा जताई थी।

एवरेस्ट पर चढाई करने के कई रिकार्ड बना चुके नेपाली शेरपा अपा शेरपा को हिलेरी की अस्थियों को एवरेस्ट शिखर पर बिखेरना था लेकिन शेरपाओं के समूह के प्रमुख आंग तेनजिंग शेरपा ने अस्थियों को इस तरह बिखेरने को संस्कृति और परंपरा के खिलाफ बताया और कहा कि इन अस्थियों को खुमजंग में हिलेरी द्वारा स्थापित पहले स्कूल की स्वर्ण जयंती पर अगले वर्ष एक स्मारक में रखा जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एडमंड हिलेरी की अस्थियां एवरेस्ट पर नहीं बिखरेंगी