DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यूरोपिय नियमों में बदलाव से भारतीय दवा निर्यातकों को फायदा

यूरोपिय नियमों में बदलाव से भारतीय दवा निर्यातकों को फायदा

नीदरलैंड ने भारत को आश्वस्त किया है कि यूरोपीय आयोग द्वारा अपने नियमों में बदलाव के बाद यूरोप में जेनेरिक दवाओं को जब्त करने की घटनाएं नहीं होंगी। नीदरलैंड के वित्त मंत्रालय में उप महानिदेशक (विदेश आर्थिक संबंध) मारटेन वेन डेन बर्ग ने यहां कहा कि हमें नियमों में बदलाव करना है और हम इस बारे में यूरोपीय आयोग की ओर देख रहे हैं।

वर्ष 2009 में अफ्रीका तथा लातिन अमेरिकी देशों को जा रही जेनेरिक दवाओं की अनेक खेप यूरोपीय आयोग विशेषकर नीदरलैंड के सीमा शुल्क अधिकारियों ने जब्त कर लीं। अधिकारियों का आरोप है कि भारतीय दवा उत्पाद यूरोपी में पेटेंट का उल्लंघन है।
  
भारत सरकार ने इसका विरोध करते हुए मामले को मंत्री स्तर पर उठाया जिसके बाद यूरोपीय यूनियन ने भारत को किसी समाधान का आश्वासन दिया। बर्ग ने कहा कि यूरोपीय आयोग के नये नियमों से सुनिश्चित होगा कि ऐसे मामले फिर नहीं हों। गौरतलब है कि भारत का दवा उद्योग 12 अरब डालर का है उसकी आय का 40 प्रतिशत हिस्सा जेनेरिक दवाओं के निर्यात से आता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:यूरोपिय नियमों में बदलाव से भारतीय दवा निर्यातकों को फायदा