DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

‘जेएनयू में छात्रों की आजादी पर नहीं है कोई प्रतिबंध’

‘जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में छात्रों की अभिव्यक्‍ति की स्वतंत्रता को छीनने का न कोई उद्देश्य था और न ऐसा संभव हो सकता है। यहां का माहौल छात्रों के लिए बिलकुल अनुकूल रहा है।’ जेएनयू के रेक्टर-2 प्रो. रामाधिकारी कुमार ने बताया कि डीएसडब्ल्यू (डीन स्टुडेंट वेलफेयर) का भी ऐसा कोई इरादा नहीं था कि जेएनयू के छात्रों की आजादी पर कोई प्रतिबंध लगाया जाए जैसा छात्र समझ बैठे थे।

प्रो. कुमार ने बताया कि जेएनयू छात्रों से यह अपेक्षा करता है कि यहां के माहौल को खुद भी बेहतर बनाए रखे और जरूरत पड़ने पर जेएनयू प्रशासन को भी इस कार्य में सहयोग करें। उन्होंने बताया कि छात्रों के प्रतिनिधमंडल को आश्वास्त कर दिया गया है कि कैंपस में उनकी बैठकें, फिल्म देखने आदि गतिनिविधियों पर सेंसर लगाने का कोई इरादा नहीं है। कैंपस के हित में छात्रों से सहयोग के नाते यह जरूर कहा गया है कि कोई ऐसा कार्यक्रम करें, या किसी बड़े व्यक्‍ति को बुलाए जहां सुरक्षा व्यवस्था की जरूरत हो तो वे प्रशासन को 48 घंटे पहले सूचित कर दे ताकि प्रशासन अपनी तरफ से सुरक्षा व्यवस्था जैसे मुद्दों को लेकर सावधान रहे। अगर विशेष स्थिति में 48 घंटे पहले उनका कार्यक्रम स्पष्ट नहीं हो पाता है तो वे कार्यक्रम स्पष्ट होते ही विवि प्रशासन को सूचित कर दें।

स्मरणीय है कि डीएसडब्ल्यू द्वारा कैंपस में छात्रों की गतिविधियों पर नजर रखने और छात्रों द्वारा आयोजित किए जाने वाले कार्यक्रम की एक सप्ताह पूर्व विस्तृत सूचना देने का प्रस्ताव रखा गया था जिसके विरोध में छात्रों ने प्रदर्शन किया था। उसके बाद विभिन्न दलों के छात्रों के प्रतिनिधिमंडल ने बुधवार को शाम में प्रो. कुमार से मुलाकात की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:‘जेएनयू में छात्रों की आजादी पर नहीं है कोई प्रतिबंध’