DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ग्रामीण बैंकों को एक दिन में भुनाना होगा स्थानीय चेक

ग्रामीण बैंकों को एक दिन में भुनाना होगा स्थानीय चेक

रिजर्व बैंक ने क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों (आरआरबी) को राष्ट्रीय उपभोक्ता विवाद निपटारा आयोग द्वारा निर्धारित समय सीमा के भीतर चेकों का हस्तांतरण करने को कहा है जिसके तहत उन्हें स्थानीय चेकों का समाशोधन चेक मिलने के हद से हद अगले दिन तक पैसा हस्तांतरित करना होगा।

बाहारी चेकों की क्लियरिंग के लिए 7 से 14 दिन का समय तय किया गया है। रिजर्व बैंक द्वारा जारी अधिसूचना के मुताबिक, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों को सलाह दी जाती है कि वे अपनी चेक संग्रह नीति में स्थानीय़-बाहरी चेकों के संग्रह और ब्याज भुगतान के संबंध में तत्काल हस्तांतरण के निर्देशों को शामिल करें।

अगस्त, 2006 में राष्ट्रीय उपभोक्ता विवाद निपटारा आयोग में एक मामला दायर किया गया था, जिसमें चेक क्लियरिंग में विलंब के लिए याचिकाकर्ता ने रिजर्व बैंक और सभी अधिसूचित वाणिज्यिक बैंकों को जवाबदेह बनाया था।

आयोग द्वारा 27 अगस्त, 2008 को मामले का निपटान किए जाने के बाद रिजर्व बैंक ने क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों को आयोग द्वारा निर्धारित समय सीमा के भीतर स्थानीय एवं बाहरी चेकों को क्लियर करने की नीति बनाने का आदेश दिया।

आयोग ने स्थानीय चेकों को बैंकों में प्रस्तुति के उसी दिन या अगले दिन क्लियर करने की समय सीमा निर्धारित की। इसके अलावा राज्य की राजधानियों के लिए सात दिन, प्रमुख शहरों के बीच 10 दिन एवं अन्य स्थानों के लिए 14 दिनों के भीतर चेक क्लियर करने की समय सीमा निर्धारित की।

रिजर्व बैंक ने कहा कि क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों को चेक संग्रह के लिए आयोग द्वारा निर्धारित समय के भीतर जितनी जल्द हो सके उतनी जल्दी कदम उठाना चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ग्रामीण बैंकों को एक दिन में भुनाना होगा स्थानीय चेक