DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एजुकेशन राउंडअप

डीयू में हुई विकलांग छात्रों की काउंसलिंग

दिल्ली विश्वविद्यालय की इक्वल अपॉच्युनिटी सेल (ईओसी) ने गुरुवार को नेत्रहीन छात्रों की काउंसलिंग की। इस सेमिनार को आयोजित करने का मुख्य मकसद ये था कि विकलांग छात्र पढ़ाई आगे जारी रख सकें। इओसी (इक्वल अपॉच्युनिटी सेल) की प्रमुख डा. निशा सिंह का कहना है कि अधिकतर छात्र दाखिला प्रक्रिया, करियर के बारे में ज्यादा जानकारी न होने से कॉलेज नहीं पहुंच पाते हैं। ऐसे में काउंसलिंग छात्रों के करियर के लिहाज से लाभदायक साबित होती है। इस काउंसलिंग में बारहवीं की परीक्षा दे चुके छात्रों को बुलाया गया है। उन्होंने बताया कि छात्रों के मन में विश्वविद्यालय की शिक्षा और करियर को लेकर कई तरह के संशय थे। मसलन नेत्रहीन छात्रों ने प्रश्न रखा कि गणित में ब्रिज कोर्स कराया जाए क्योंकि अमूमन बारहवीं में उनकी गणित छूट जाती है ऐसे में गैप को दूर करने के लिए और गणित दुरुस्त करने के लिए ब्रिज कोर्स जरूरी है।  

सेमेस्टर सिस्टम के विरोध में बैठकें हुईं रद्द

दिविवि के अंडरग्रेजुएट पाठय़क्रम में सेमेस्टर सिस्टम लागू करने के विरोध में गुरुवार को दो कई विभागों में शिक्षक एकजुट हुए। फिलॉस्फी डिपार्टमेंट की जीबी (जेनरल बॉडी) की बैठक में 60 में से 47 शिक्षकों ने भाग लिया और सेमेस्टर सिस्टम के प्रति विरोध जताया। विभागाध्यक्ष प्रो. अशोक वोहरा ने बताया कि उनके विभाग ने निर्णय लिया है कि वे सेमेस्टर सिस्टम को लागू नहीं कर पाएंगे। दूसरी तरफ फिजिक्स विभाग में भी पाठय़क्रम समिति की बैठक में सेमेस्टर सिस्टम का विरोध किया गया।

जामिया के पूर्व छात्र मिले

मस्ती, उमंग, उल्लास, वर्षों बाद मिलने की तमन्ना व ख्वाहिश के बीच जामिया मिल्लिया इस्लामिया के इंजीनियरिंग के छात्र आपस में मिले। कोई जयपुर, सोनीपत से आया था तो कोई राजधानी के दूरदराज क्षेत्र से। सभी ने बिछड़ने के बाद के अनुभव सुनाए और पुरानी बातों को याद किया। यह जानकारी कार्यक्रम के संयोजक इंजीनियर ब्रजेश भारद्वाज ने दी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एजुकेशन राउंडअप