DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

किरोड़ीमल कॉलेज यानी सितारों का कॉलेज

किरोड़ीमल कॉलेज यानी सितारों का कॉलेज

किरोड़ीमल कॉलेज दिल्ली विश्वविद्यालय का गहना है। यह डीयू के बेहतरीन संस्थानों में से एक है जहां वे सारी सुविधाएं हैं जो सफलता के परचम लहराने के लिए किसी संस्थान को जरूरी होते हैं। यह कहना था डीयू के पूर्व कुलपति प्रो. दीपक नैयर का। अपने 56 वर्षों की ऐतिहासिक यात्रा में कॉलेज ने देश के महानायक अमिताभ बच्चन, फिल्म निर्देशक सतीश कौशिक, न्यायाधीश आनन्द पटनायक, पर्वतारोही एम. एस. कोहली, कुलभूषण खरबंदा, शक्ति कपूर जैसे छात्र को ज्ञान का कवच पहनाया जो अपने-अपने क्षेत्र में सफलता के झंडे गाड़ चुके हैं।
देश विभाजन के बाद निर्मला कॉलेज के रूप में शुरू हुआ यह कॉलेज पहली फरवरी 1954 को किरोड़ीमल कॉलेज के रूप में अस्तित्व में आया। कॉलेज का प्रबंधन बदलने के बाद नए ट्रस्ट के संस्थापक सेठ किरोड़ीमल इस कॉलेज की स्थापना की। कोई औपचारिक शिक्षा नहीं पा सकने वाले सेठ किरोड़ीमल की दूरदर्शिता और दृष्टि पर आगे बढ़ते हुए कॉलेज ने 56 साल पूरे कर लिए।

खासकर अंग्रेजी, ज्योग्राफी, इकोनोमिक्स, मैथ्स, साइंस और उर्दू जैसे विषयों के लिए बेहद लोकप्रिय इस कॉलेज में हिन्दी, फिजिकल साइंस, अप्लाएड फिजिकल साइंस, पोलिटिकल साइंस, बी.कॉम, समेत अनेक विषयों की पढ़ाई होती है। फिलहाल कॉलेज में लगभग तीन हजार छात्र-छात्राएं हैं लेकिन इस वर्ष यह संख्या साढ़े तीन हजार से अधिक हो जाएगी।

कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ. भीम सेन सिंह कॉलेज को लोकप्रिय बनाने में बेहतर शिक्षकों और बेहतर छात्रों का सर्वाधिक योगदान मानते हैं। कॉलेज का वातावरण भी ऐसा है कि यहां शिक्षकों और छात्रों को पूरा विकास का अवसर देते हैं।

क्या है खास

खासकर कॉलेज की थिएटर सोसायटी, म्यूजिक सोसायटी, डांस सोसायटी की गतिविधियां पूरे विश्वविद्यालय में बेहद लोकप्रिय हैं। हॉकी, बैडमिंटन और चेस में भी कॉलेज के छात्र-छात्राएं आगे रहती हैं।

कौन-कौन से कोर्स हैं लोकप्रिय

ज्योग्राफी के छात्र टॉप करते रहते हैं। स्टेटिस्टिक्स, उर्दू, इकोनोम्क्सि, अंग्रेजी, फिजिक्स आदि विषयों में छात्र काफी बेहतर प्रदर्शन कर कॉलेज का नाम रोशन करते रहते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:किरोड़ीमल कॉलेज यानी सितारों का कॉलेज