DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

धोखेबाज पति का वेतन जानने के लिए आरटीआई

छत्तीसगढ़ की एक महिला ने अपने पति कावेतन विवरण जानने के लिए सूचना के अधिकार (आरटीआई) के तहत याचिका दायर की है। इस महिला को संदेह है कि उसके पति ने सेवा पुस्तिका में अपनी दूसरी पत्नी का नाम दर्ज करवा रखा है।

शिवकुमारी कश्यप की अपील पर सूचना आयुक्त अन्नपूर्णा दीक्षित ने अपने आदेश में कहा कि केंद्रीय सूचना आयोग (सीआईसी) के निर्देशों के अनुसार किसी सरकार कर्मचारी के वेतन को निजी जानकारी के दायरे में नहीं रखा जा सकता। इसलिए लोक सूचना अधिकारी (पीआईओ) अपीलकर्ता को सूचना मुहैया कराएं।

कश्यप को संदेह है कि दक्षिण पूर्व केंद्रीय (एसईसी) रेलवे में काम करने वाले उनके पति बलदेव सिंह ने सेवा पुस्तिका में अपनी दूसरी पत्नी का नाम दर्ज कराया हुआ है।

उन्होंने अपने पति के वेतन और सेवा पुस्तिका की प्रति हासिल करने के लिए एसईसी रेलवे में एक याचिका दाखिल की थी लेकिन विभाग ने जानकारी देने से इंकार कर दिया। इसके बाद उसने सीआईसी में गुहार लगाई। वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए 10 मार्च को हुई सुनवाई में उन्होंने कहा वह बलदेव सिंह की वैध पत्नी हैं जबकि उनका पति उनके साथ र्दुव्‍यवहार करता है। अपनी अपील में उन्होंने कहा है कि बिना तलाक दिए उनके पति ने अपनी दूसरी शादी कर ली। सीआईसी ने कहा है कि महिला को 10 अप्रैल तक संबंधित सूचना मुहैया कराई जाए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:धोखेबाज पति का वेतन जानने के लिए आरटीआई