DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आनलाइन आवेदन में खामियाँ, आवेदन निरस्त होने का खतरा

कर्मचारी चयन आयोग (एसएससी) में ऑन लाइन आवेदन का खामियाजा अभ्यर्थियों को भुगतना पड़ रहा है। संयुक्त स्नातक स्तरीय परीक्षा-2010 में आवेदन किए 280 अभ्यर्थियों के आवेदन पत्र फीस का रिकॉर्ड मैच न होने के कारण निरस्त हो जाएँगे। अब इन अभ्यर्थियों को परीक्षा से वंचित होना पड़ेगा। आयोग ने इन अभ्यर्थियों की सूची जारी कर दी है।

एसएससी ने पहली बार संयुक्त स्नातक स्तरीय परीक्षा से ऑन आवेदन प्रारंभ किया है। विकल्प के तौर पर आवेदन की पुरानी व्यवस्था भी थी। ऑन लाइन आवेदकों को बैंक और पोस्ट ऑफिस में फीस जमा कर वहाँ से मिले ट्रांजेक्शन नंबर को अपने आवेदन पत्र में लिखना और फिर फार्म को अंतिम तौर पर सबमिट करना था। आवेदन की प्रक्रिया पूरी होने के एसएससी के मध्य क्षेत्र दफ्तर में अभ्यर्थियों की ओर से भरे गए ट्रांजेक्शन नंबर और बैंक तथा पोस्ट ऑफिस से एसएससी दफ्तर को मिले ट्रांजेक्शन नंबर का मिलान किया गया तो यह खामी सामने आई। इसकी मुख्य तौर पर दो वजह मानी जा रही है। अव्वल तो यह की अभ्यर्थियों ने गलत नंबर भरा और दूसरी संभावना यह भी हो सकती है कि बैंक और पोस्ट ऑफिस से अभ्यर्थियों को गलत नंबर दिया गया हो। स्थिति चाहे जो भी पर इस गलती का नतीजा अभ्यर्थियों को ही भुगतना होगा। एक चूक के कारण फीस जमा करने के बाद भी यह 280 अभ्यर्थी मई में होने वाली संयुक्त स्नातक स्तरीय परीक्षा में शामिल नहीं हो सकेंगे। यह परीक्षा पहली बार बदले हुए पैटर्न पर होगी। एसएससी मध्य क्षेत्र के क्षेत्रीय निदेशक एके मिश्र का कहना है कि छात्रों की अधिक संख्या से ऐसा लगता है कि ट्रांजेक्शन नम्बर ही गलत भरा गया है। यह भी हो सकता है कि अभ्यथियों को जो नम्बर मिला था, उसे वे समझ नहीं सके।

कर्मचारी चयन आयोग मध्य क्षेत्र की ओर से शुल्क मिस मैच वाले आवेदकों के नाम, रजिस्ट्रेशन नम्बर, अभ्यर्थी की ओर से अंकित नम्बर और बैंक का वास्तविक नम्बर उनकी वेबसाइट पर डाल दिया गया है। वेबसाइट पर उपलब्ध कराई गई सूचना को देखकर लगता है कि अभ्यर्थियों ने फार्म में नम्बर ही भरने में गलती की है। कुछ छात्रों ने आगे के अंक छोड़ दिए हैं तो कुछ ने पीछे के। साथ ही कुछ अभ्यर्थी नम्बर को गलत भर गए हैं।

‘‘अभ्यर्थियों ने बैंक से मिले ट्रांजेक्शन नम्बर को भरने में लापरवाही की है। इस गलती की सजा अब छात्रों को मिलनी ही है। इन सभी का अभ्यर्थन स्वत: खत्म हो जाएगा।’’
एके मिश्र क्षेत्रीय निदेशक, कर्मचारी चयन आयोग, मध्य क्षेत्र

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आनलाइन आवेदन में खामियाँ, आवेदन निरस्त होने का खतरा