DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उपवास रख किया बीएचयू के ‘विभाजन’ का विरोध

बीएचयू के कथित विभाजन के विरोध में बीएचयू के पूर्व व वर्तमान छात्रों ने रविवार को उपवास रखा। प्रदर्शनकारियों का कहना था कि बीएचयू आईटी को आईआईटी का दर्जा देने के नाम पर विश्वविद्यालय को विभाजित करने की साजिश रची जा रही है।

वक्ताओं ने कहा कि बीएचयू आईटी को आईआईटी के रूप में अलग कराने का प्रायोजित आंदोलन शिक्षा में गुणात्मक परिवर्तन के बजाय वेतन में मात्रात्मक वृद्धि कराने की नौटंकी है। उपवास स्थल से प्रधानमंत्री के नाम अपील जारी कर मांग की जाए की किसी हाल में बीएचयू को विभाजित न किया जाए। अपर नगर मजिस्ट्रेट प्रथम उमेश नारायण पाण्डेय ने उपवास स्थान पर जाकर प्रधानमंत्री को संबोधित ज्ञापन लिया।

पूर्व मंत्री डा. महेन्द्र नाथ पाण्डेय व पूर्व अध्यक्ष एनपी सिन्हा ने मौके पर पहुंच कर प्रदर्शनकारियों को समर्थन दिया। बैठक की अध्यक्षता बीएचयू छात्र संघ के पूर्व उपाध्यक्ष डा. अरविंद शुक्ला व संचालन राकेश मिश्र ने किया। मौके पर भुवनेश्वर द्विवेदी, कमलाकर त्रिपाठी, पवन सिंह, राजेन्द्र चौधरी, अतुल मिश्र, रमेश उपाध्याय आदि मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:उपवास रख किया बीएचयू के ‘विभाजन’ का विरोध