DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आसाराम बापू आश्रम में काले जादू के सबूत नहीं: सीआईडी

आसाराम बापू के आश्रम में पढ़ने वाले दो बच्चों की जुलाई 2008 में संदिग्ध परिस्थितियों में मृत्यु के मामले की जांच कर रही गुजरात सीआईडी ने उच्च न्यायालय से आश्रम में काला जादू करने का कोई सुबूत नहीं मिलने की बात कही है।

सीआईडी के जांच अधिकारी पुलिस उपाधीक्षक पी़ एम़ परमार ने मामले की सुनवाई कर रहे न्यायाधीश न्यायमूर्ति ए़ एस़ दवे के समक्ष बुधवार को रिपोर्ट पेश की।

सीआईडी ने यह रिपोर्ट आसाराम के आश्रम के सात साधकों द्वारा दायर याचिकाओं पर अदालत के आदेश के बाद जवाब के तौर पर दाखिल की है।

याची साधकों ने खुद को बेकुसूर बताते हुए उच्च न्यायालय से अपने खिलाफ दर्ज प्राथमिकी रद्द करने की गुजारिश की थी। इन साधकों पर गैरइरादतन हत्या का आरोप है।

सीआईडी की रिपोर्ट के मुताबिक जांच इकाई ने निरीक्षण के दौरान आसाराम बापू के आश्रम की सघन तलाशी लेने के साथ-साथ वहां की फोटोग्राफी तथा वीडियोग्राफी भी की थी लेकिन ऐसी कोई निशानी नहीं मिली जिसके आधार पर कहा जाए कि वहां काले जादू की प्रक्रिया की गई थी।

गौरतलब है कि अहमदाबाद के मोटेरा इलाके में स्थित आसाराम बापू के आश्रम में पढ़ने वाले दो किशोरों दीपेश तथा अभिषेक वाघेला के सड़े-गले शव पांच जुलाई 2008 को साबरमती नदी के किनारे से बरामद किये गए थे। वे दोनों लड़के इसके दो दिन पहले लापता हो गए थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आसाराम बापू आश्रम में काले जादू के सबूत नहीं: सीआईडी