DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कहीं कुछ गलत हुआ है, जांच होगी: चिदंबरम

कहीं कुछ गलत हुआ है, जांच होगी: चिदंबरम

छत्तीसगढ़ में माओवादियों के घातक हमले के संदर्भ में  कुछ गलती होने की बात स्वीकार करते हुए सरकार ने गुरुवार को इस घटना की जांच कराने का फैसला किया, जिसमें 76 जवानों की जान गई है।

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की सुरक्षा संबंधी समिति की बैठक के बाद गृह मंत्री पी चिदंबरम ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि हमने इस बात की जांच कराने का निर्णय किया है कि आखिर गलती कहां हुई।

दंतेवाड़ा घटना के बारे में सवालों के जवाब में उन्होंने कहा कि जांच की समय सीमा निर्धारित की जाएगी। उन्होंने कहा कि मैंने कल जो कहा था मैं उस पर कायम हूं कि कुछ गलती हुई है। हमें इस गलती का पता लगाना है। हालांकि उन्होंने कहा कि सुरक्षा संबंधी कैबिनेट समिति की बैठक में इस नक्सली हिंसा की घटना पर चर्चा नहीं हुई।

गृह मंत्री ने इन खबरों को गलत बताया कि हमले में प्रेशर बमों का उपयोग हुआ या क्षेत्र में सीआरपीएफ के ऑपरेशन के बारे में स्थानीय पुलिस को जानकारी नहीं थी।

नक्सलियों द्वारा हमले में इस्तेमाल किए गए हथियारों के स्रोत के बारे में पूछे जाने पर चिदंबरम ने कहा कि वे सीमा पार से हथियार खरीदते हैं। सीमा पार हथियारों के तस्कर हैं। वे उन्हें चोरी-छिपे देश में लेकर आते हैं। उन्होंने इस संदर्भ में नेपाल, म्यांमार और बांग्लादेश के साथ भारत की खुली सीमाओं का उल्लेख किया।

उन्होंने बताया कि हमले में 76 सीआरपीएफकर्मियों को मारने के बाद माओवादी उनके सभी हथियार ले गए। हमले में मारे गए इन 76 सुरक्षाकर्मियों में एक ड्राइवर और एक राज्य पुलिस का हेड कांस्टेबल शामिल हैं ।

उन्होंने कहा कि इसी तरह पूर्वोत्तर के विद्रोही सुरक्षा बलों से हथियार लूटते हैं, सीमा पार से विदेशी और देश के भीतर देसी हथियारों की खरीद भी करते हैं। नक्सलियों और विद्रोहियों के वित्तीय संसाधनों के बारे में उन्होंने कहा कि वे बैंक लूटते हैं और अपने क्षेत्रों की खनन कंपनियों से धन की उगाही करते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कहीं कुछ गलत हुआ है, जांच होगी: चिदंबरम