DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्राचीन विज्ञान पर और शोध की आवश्यकता

भारतीय राष्ट्रीय विज्ञान परिषद की तीन दिनी हिस्ट्री ऑफ साइंस प्रोजेक्ट इंवेस्टीगेटर्स मीट बीएचयू के स्वतंत्रता भवन सभागार में मंगलवार को शुरू हुई। उदघाटन समारोह के मुख्य अतिथि व कृष्णमूर्ति फाउण्डेशन के पूर्व निर्देशक प्रो पी. कृष्ण ने कहा कि प्राचीन विज्ञान पर और शोध किए जाने की आवश्यकता हैं। कहा कि प्राचीन भारतीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी पर सघन शोध की जरूरत है। विश्व के तमाम देश अपने प्राचीन विज्ञान की दिशा में काफी काम कर रहे हैं, लेकिन भारत इस क्षेत्र में काफी पीछे हैं।

अध्यक्षता करते हुए इंसा की रिसर्च काउंसिल फॉर हिस्ट्री ऑफ साइंस के अध्यक्ष प्रो. आर. गडक्कर ने परिषद की विभिन्न शोध परियोजनाओं पर प्रकाश डाला। उन्होंने इस विषय में रूचि रखने वाले विद्वानों से शोध परियोजना बनाने का आह्वान किया। उदघाटन भाषण प्रो. रामहर्ष सिंह ने दिया। मीट की संयोजिका प्रो. विभा त्रिपाठी ने विषय प्रवर्तन किया। स्वागत संकाय प्रमुख प्रो. कमलशील ने किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:प्राचीन विज्ञान पर और शोध की आवश्यकता