DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शुल्क बढ़ोत्तरी पर भी जताया विरोध

इलाहाबाद विश्वविद्यालय के छात्र अपनी मांगों को लेकर मंगलवार को छात्रसंघ भवन के सामने क्रमिक अनशन पर बैठे तथा हस्ताक्षर अभियान भी शुरू किया। छात्रों की मांग है कि स्नातक, परास्नातक तथा विधि प्रवेश परीक्षा में ऑन लाइन आवेदन के साथ ही विकल्प के तौर पर आवेदन की पुरानी व्यवस्था को भी बहाल किया जाए। आवेदन शुल्क में कोई बढ़ोत्तरी न की जाए तथा गोरखपुर और वाराणसी में केंद्र स्थापित कर वहां भी प्रवेश परीक्षा करवाई जाए। छात्रों ने हर विभाग में लिए जाने वाले पंजीकरण शुल्क को समाप्त करने, स्नातक प्रवेश परीक्षा के कोआर्डिनेटर पद से प्रो. एचएस उपाध्याय को हटाने, संघटक महाविद्यालयों में परास्नातक की कक्षाएं शुरू करने और नए शैक्षिक सत्र से पूर्व विश्वविद्यालय में नया कुलपति तैनात करने की मांग भी की है।

हस्ताक्षर अभियान की अगुवाई छात्र नेता अभिषेक यादव ने की। उन्होंने कहा कि पंजीकरण के नाम पर छात्रों का शोषण किया जा रहा है। संघटक महाविद्यालयों में पीजी कक्षाएं न होने के कारण छात्रों को दिक्कत होती है इसलिए पीजी कक्षाएं शुरू की जाएं। इविवि का अपना मेडिकल कॉलेज स्थापित किया जाए तथा छात्रसंघ चुनाव की घोषणा की जाए। अभिषेक के साथ विजय मिश्र, जियाउल शादाब, प्रवीण शुक्ल, आशुतोष यादव, विनोद यादव, प्रतीक शर्मा, अनिल यादव, सौर्य प्रताप सिंह, अखिलेश पटेल, विवेक सिंह, दिव्यभान, चंदन सिंह, सुशील सिंह आदि उपस्थित थे। उधर, स्टूडेंट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (एसएफआई) ने आवेदन शुल्क में की जा रही बढ़ोत्तरी का विरोध किया है। आवेदन की पुरानी व्यवस्था को विकल्प के तौर पर रखने की मांग भी की गई है। प्रदेश सचिव अखिल विकल्प का कहना है कि इसके खिलाफ आंदोलन को और तेज किया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:शुल्क बढ़ोत्तरी पर भी जताया विरोध