DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दांतेवाड़ा हमले के बाद शुरू हुआ नियंत्रित नक्सल विरोधी अभियान

छत्तीसगढ़ के दांतेवाड़ा में सीआरपीएफ जवानों को निशाना बनाकर किये गए आतंकी हमले के बाद पश्चिम बंगाल के माओवाद प्रभावित तीन जिलों में संयुक्त बलों की ओर से चलाये जा रहे अभियान को नियंत्रित रूप में आगे बढ़ाया जा रहा है और पुलिस शिविरों में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गयी है।

दांतेवाड़ा में नक्सली हमले के बाद संयुक्त बलों की ओर से चलाये जा रहे अभियान की रूपरेखा पर नये सिरे से विचार किया जा रहा है। इस घटना में सीआरपीएफ के 75 जवान शहीद हुए थे।

जिला सूत्रों ने बुधवार को बताया कि दांतेवाड़ा में मंगलवार को नक्सली हमले के मद्देनजर सुरक्षा बलों को सतर्कता बरतने को कहा गया है और पश्चिमी मिदनापुर, पुरूलिया और बांकुरा में नक्सल विरोधी अभियान नियंत्रित रूप में आगे बढ़ाया जा रहा है।

राज्य के पुलिस महानिदेशक भूपिंदर सिंह ने कहा कि सुरक्षा बलों को नहीं लगता है कि खराब समय समाप्त हो गया है।

उन्होंने कहा कि हम अपने जवानों को बता रहे हैं कि वे सजगता नहीं छोड़े और यह नहीं सोचे की खराब समय समाप्त हो गया है। अभियान के दौरान अंतिम क्षणों तक मानक कार्रवाई मापदंडों का पालन करें।

पश्चिम मिदनापुर जिले के 11 प्रखंड विकास अधिकारियों को सुरक्षा के लिहाज से सूर्यास्त के बाद मिदनापुर शहर में चले आने को कहा गया है।

सूत्रों ने कहा कि प्रखंड विकास पदाधिकारियों पर माओवादियों के हमले की आशंका है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दांतेवाड़ा हमले के बाद शुरू हुआ नियंत्रित नक्सल विरोधी अभियान