DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

'साइबर कब्र' पर परिजनों को श्रद्धांजलि!

'साइबर कब्र' पर परिजनों को श्रद्धांजलि!

चीन में अपने दिवंगत परिजनों को ऑनलाइन श्रद्धांजलि देने का प्रचलन बढ़ रहा है। वजह साफ है कि लोग वक्त की कमी के चलते दिवंगत परिजनों के कब्र तक नहीं पहुंच पाते। इसलिए ये लोग 'साइबर कब्र' बनाते हैं और माउस क्लिक करके श्रद्धांजलि अर्पित कर देते हैं।

समाचार पत्र 'चाइना डेली' के अनुसार, यह प्रचलन चीन में मनाए जाने वाले 'क्विंगमिंग' के मौके पर कुछ ज्यादा ही बढ़ जाता है। इस परंपरागत त्योहार में लोग अपने दिवंगत परिजनों के कब्र पर जाकर उन्हें श्रद्धांजलि देते हैं। छुट्टियों की कमी के चलते कई बार लोग इस मौके पर अपने गृहनगर नहीं पहुंच पाते हैं। इस तरह की दिक्कत का सामना करने वालों के लिए यह एक नायाब तरीका है।

बीजिंग के एक वकील सोंग किन ने अपने दादा-दादी की ऑनलाइन कब्र बनाई हुई है। इनके दादा-दादी अनहुई प्रांत में रहते थे। प्रत्येक कब्र को बनाने की लागत महज 10 येन यानी 1.5 डॉलर आई जबकि एक वास्तविक कब्र बनाने में हजारों येन खर्च हो जाते हैं।

इस कब्र पर उन्होंने अपने दादा-दादी के चित्र लगा रखे हैं। साथ ही उनकी याद में काफी कुछ लिखा भी है। इस सेवा की शुरुआत चीन अंतिम संस्कार संघ द्वारा की गई है। संघ का दावा है कि 14,000 से ज्यादा ऑनलाइन कब्रों की स्थापना हो चुकी है।

ऑनलाइन कब्र का निर्माण करने वाले वेबसाइट पर जाकर मानचित्र में कब्रिस्तान के लिए जगह चुनते हैं। जगह चुनने के बाद वह कब्र खरीद लेते हैं। इस सेवा को शुरू करने वालों में एक ये डांगडांग कहते हैं कि उन लोगों ने यह वेबसाइट परंपरागत तरीकों को बदलने के लिए नहीं शुरू की है। इसका एक मात्र मकसद ऐसे लोगों को विकल्प मुहैया कराना है जो दूर होने के कारण अपने परिजनों को श्रद्धांजलि नहीं दे पाते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:'साइबर कब्र' पर परिजनों को श्रद्धांजलि!