DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यूपी में पढ़ने-पढ़ाने की तरकीब जानी

राज्य शैक्षिक योजना एवं प्रशासन विश्वविद्यालय (निपा) की ओर से 25 देशों के 34 सदस्यों वाले दल ने सोमवार को प्राथमिक शिक्षा से लेकर विश्वविद्यालय स्तर के शिक्षण-प्रशिक्षण की जानकारियाँ प्राप्त की। इस दौरान दल के सदस्य शिक्षक प्रशिक्षण केन्द्र राज्य शिक्षा संस्थान (डायट), राज्य विज्ञान शिक्षा संस्थान और राज्य शैक्षिक शिक्षा संस्थान भी गए। शिक्षकों को किस प्रकार से और किस स्तर का प्रशिक्षण दिया जाता है, इसका ब्योरा हासिल किया। यह भी जाना कि बच्चों के लिए किस प्रकार से और किस स्तर की नई किताबें तैयार होती हैं। लेशन चार्ट तैयार करने और उसे सरल विधि से पढ़ाने के गुर भी सीखे।

डायट के प्राचार्य संजय सिन्हा ने प्राथमिक शिक्षक-शिक्षिकाओं के प्रशिक्षण और पढ़ाने की विधि की जानकारी विस्तार से दी। राज्य विज्ञान शिक्षा संस्थान की निदेशक डॉ.भावना शिक्षार्थी ने बताया कि यहाँ शिक्षकों को सरल विधि से पढ़ाने का प्रशिक्षण दिया जाता है। राज्य शिक्षा संस्थान की प्राचार्या डॉ.एस सिंह ने प्राथमिक स्तर की नई किताबों के तकनीकी पहलुओं की चर्चा की। इसके बाद दल के सदस्य इलाहाबाद विश्वविद्यालय के शिक्षा विभाग गए और उच्च शिक्षा की बारीकियां जानीं। सीमैट की डायरेक्टर कीर्ति गौतम ने बताया कि विदेशी दल को प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था के बारे में पूरी जानकारी दी जा रही है। शाम को सीमैट में आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रम में भी मेहमानों ने भागीदारी की।

मंगलवार को प्रशिक्षु दल के सदस्य सोरांव क्षेत्र के बीआरसी और प्राथमिक विद्यालयों का भ्रमण करेंगे और अध्यापन के तरीकों का अध्ययन करेंगे। इस विदेशी दल में अफगानिस्तान, क्यूबा, श्रीलंका, इथोपिया, इराक, मालदीव, जमैका, ग्याना, फिजी, मंगोलिया, उजबेकिस्तान, जाम्बिया, जिम्बांबे, तंजानिया सहित अन्य देशों के प्रतिनिधि शामिल है।

संगम स्नान कर किया हनुमान जी का दर्शन

विदेश अध्ययन दल के सदस्य सोमवार की सुबह संगम क्षेत्र गए। सीमैट के अधिकारियों ने गंगा-यमुना और अदृश्य सरस्वती के बारे में बताया। महाकुम्भ-अर्धकुम्भ और माघ मेले के महत्व और आयोजन बारे में विस्तार से जानकारी दी। संगम स्नान के बाद सभी लोगों ने बड़े हनुमान जी और मनकामेश्वर मन्दिर का दर्शन-पूजन किया। दल ने अकबर का किला, शंकर विमान मण्डपम, आनन्द भवन सहित अन्य प्रमुख ऐतिहासिक स्थलों का भी भ्रमण किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:यूपी में पढ़ने-पढ़ाने की तरकीब जानी