DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मिल सकता है आधा दजर्न कोर्सों का तोहफा

पंडित जवाहर लाल नेहरू कॉलेज में इस बार नामांकन के लिए मारामारी मचेगी। पिछली बार कईयों को नियमित कक्षाओं से महरूम रहना पड़ता है। इस बार कमोबेश यही स्थिति है। सीटों की संख्या में बढ़ोतरी के साथ आधा दर्जन नए कोर्स अगले सत्र से शुरू हो सकते हैं। मध्य जून से शहर के कॉलेजों में नामांकन का दौर शुरू हो जाता है। पिछले साल छात्रों की संख्या 2898 से बढ़कार 3467 कर दी गई थी। सत्र 1971 में कॉलेज के स्थापना के बाद आज यह वटवृक्ष का आकार ले चुका है। शहर का एकमात्र कॉलेज हैं जहां सायंकालीन सत्र में पढ़ाई की व्यवस्था है।

कॉलेज का इतिहास:
1971 में हुई स्थापना
- शुरुआत में कला संकाय की होती थी पढ़ाई
- वर्तमान में कला, वाणिज्य, विज्ञान, बीबीए, बीसीए, बीएससी कंप्यूटर साइंस, बीएससी कमेस्ट्री, बीएससी बायोटेक में स्नातक के साथ अंग्रेजी, हिन्दी, इतिहास, मनोविज्ञान, कंप्यूटर साइंस, अर्थव्यवस्था और वाणिज्य में स्नातकोत्तर की व्यवस्था।
छात्रों की कुल संख्या- 2919
छात्राओं की संख्या- 548
प्राचार्य-1
प्रवक्ता- 84
37 प्रवक्ता पीएचडी और 24 ने एमफिल की है
16 अतिथि प्राध्यापक कार्यरत हैं

सांध्यकालीन सत्र में चार प्रवक्ता कार्यरत
नैक ग्रेड बी प्लस
सांध्यकॉलीन सत्र में है कला संकाय की पढ़ाई
सांस्कृतिक गतिविधि:
क्षेत्रीय और राज्यस्तरीय युवा महोत्सव में लगातार महाविद्यालय के छात्रों ने बेहतर प्रदर्शन किया है।
महाविद्यालय का विशेष क्लब:
आरोहण (महिला अध्ययन एवं विकास प्रकोष्ठ), एनएसएस, एनसीसी, छात्र कल्याण फोरम, लिटरेरी एंड यंग स्पीकर्स क्लब, फाइन आर्ट्स, लीगल सेल, अंग्रेजी साहित्य परिषद् और चाणक्य राजनीति विज्ञान परिषद्
मिल सकता है तोहफा:
वाणिज्य संकाय में एमबीए, बी कॉल कंप्यूटर एप्लिकेशन और बीकॉम टीपीपी जैसे रोजगारपरक कोर्स शुरू किए जा सकते हैं। हिन्दी आनर्स के लिए उच्चतर शिक्षा निदेशालय को प्रस्ताव भेजा गया है। अनुमति मिलने के बाद यह सभी कोर्स 2010-11 सत्र से प्रारंभ हो सकते हैं।
जयवीर सिंह, प्रिंसिपल, नेहरू कॉलेज: नए रोजगारपरक कोर्स शुरू होने से बड़ी संख्या में छात्र इसका लाभ उठा सकेंगे। सभी विभागाध्यक्षों से नए कोर्स के लिए सुझाव मांगे गए थे। कुछ कोर्स के प्रस्ताव उच्चतर शिक्षा निदेशालय को भेजे गए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मिल सकता है आधा दजर्न कोर्सों का तोहफा