DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सरगम का जुनून जॉकी

सरगम का जुनून जॉकी

म्यूजिक के प्रति लोगों की बढ़ती दीवानगी ने आज जॉकीइंग को एक अच्छा करियर विकल्प बना दिया है। युवाओं के लिए यह एक ग्लैमरस करियर विकल्प के रूप में सामने आया है। वैसे भी मीडिया और कैमरे से जुड़ा हर क्षेत्र हमेशा से ही युवाओं को अपनी तरफ आकर्षित करता आया है।

जॉकीइंग के रूप में आमतौर पर आप तीन रूपों में काम कर सकते हैं- रेडियो जॉकी (आरजे), वीडियो जॉकी (वीजे) और डिस्क जॉकी (डीजे)। यूं तो सभी जॉकी मुख्य रूप से म्यूजिक से ही ‘डील’ करते हैं, लेकिन जहां आरजे रेडियो पर प्रोग्राम प्रस्तुत करता है, वहीं वीजे का काम आमतौर पर टेलीविजन पर म्यूजिकल प्रोग्राम्स को प्रस्तुत करना होता है। डीजे मुख्य रूप से लाइव शोज जैसे क्लब, म्यूजिक स्टोर्स, पार्टीज, नाइट-क्लब, म्यूजिक फेस्टिवल्स आदि में अपना प्रोग्राम पेश करता है।

रेडियो जॉकी
हाल के वर्षों में एफएम चैनलों के विस्तार ने मीडिया से जुड़ने के युवाओं के सपने को काफी आसान बना दिया है। रेडियो चैनलों में रेडियो जॉकी यानी आरजे के रूप में करियर बनाने की असीम संभावनाएं सामने आई हैं।

यदि नए-नए लोगों से बात करना आपको आता है, अपनी जादुई आवाज से लोगों को मंत्रमुग्ध करने की काबिलियत आप में है, साथ ही संगीत के प्रति आप में रुचि है तो फिर रेडियो जॉकी के रूप में आपके पास अपने हुनर को ‘कैश’ कराने के भरपूर अवसर मौजूद हैं।

एफएम आरजे दिलीप सिंह कहते हैं, ‘एक आरजे बनने के लिए आपकी शैक्षणिक योग्यता उतनी मायने नहीं रखती, जितनी कि कुछ अन्य स्किल्स, जैसे भाषा पर मजबूत पकड़, संगीत की अच्छी समझ और जानकारी। आपकी आवाज और बात करने के अंदाज से श्रोताओं को ऐसा लगना चाहिए कि उन्हीं के बीच का उनका कोई दोस्त उनसे बातचीत कर रहा है, ताकि श्रोताओं को आप अपने चैनल से बांधे रख सकें।’

वर्क नेचर
आरजे वह व्यक्ति होता है, जो रेडियो पर कार्यक्रम का संचालन करता है, श्रोताओं से बातचीत करता है, साथ ही, श्रोताओं की पसंद को ध्यान में रख कर गाने उपलब्ध कराता है। इसके अलावा आरजे कार्यक्रम के लिए स्क्रिप्ट भी लिखता है। समय-समय पर रेडियो चैनल पर बुलाए जाने वाले मेहमानों और सेलिब्रिटीज का इंटरव्यू लेना भी आरजे के काम में शामिल होता है। इन सबसे अलग हटकर आरजे अपने कार्यक्रम के दौरान श्रोताओं को अन्य दूसरी जानकारियां भी देते रहते हैं, जैसे शहर में ट्रैफिक का हाल, मौसम संबंधी जानकारियां, क्रिकेट या अन्य खेल के ताजा स्कोर आदि, ताकि श्रोता संगीत का मजा लेने के साथ-साथ आस-पास घट रही घटनाओं से भी अपडेट होते रहें।

योग्यता एवं स्किल्स
आरजे बनने के लिए वैसे तो किसी विशेष शैक्षणिक योग्यता का निर्धारण नहीं है, फिर भी आवेदकों को कम से कम ग्रेजुएट होना जरूरी होता है। आपकी आवाज कर्णप्रिय एवं मधुर होनी चाहिए तथा आपका सेंस ऑफ ह्यूमर अच्छा होना चाहिए, ताकि श्रोताओं के किसी भी प्रश्न को सुन कर आप उसका माकूल जवाब तुरंत दे सकें। करेंट अफेयर्स में भी आपकी रुचि होनी चाहिए, ताकि आसपास घट रही घटनाओं से वाकिफ रहें। कोर्स अवधि आमतौर पर 3 से 6 महीने के बीच होती है।

संभावनाएं
विगत कुछ वर्षों में जिस तेजी से रेडियो चैनलों का विस्तार हुआ है तथा नए-नए चैनल खुले हैं, उसको देखते हुए रोजगार की अच्छी संभावनाएं पैदा हुई हैं। आकाशवाणी, प्राइवेट एफएम चैनल जैसे एफएम फीवर, रेडियो मिर्ची, रेड एफएम आदि में जॉब के काफी अवसर हैं। इसके अतिरिक्त एक आरजे स्टेज शो, कॉरपोरेट शो आदि में भी हिस्सा लेते रहते हैं। युवाओं की इस क्षेत्र के प्रति बढ़ती दीवानगी को देखते हुए आज कई आरजे ट्रेनिंग सेंटर्स भी खुल गए हैं, जहां अनुभव प्राप्त आरजे अपने टैलेंट और अनुभव को भुना सकते हैं। नए आरजे को मौका देने के लिए ऑल इंडिया रेडियो (एआईआर) प्रत्येक तीन माह के अंतराल पर अपने विभिन्न रेडियो स्टेशनों पर ऑडिशन का आयोजन करता है, जहां चुने गए आवेदकों को इन-हाउस ट्रेनिंग भी प्रदान की जाती है। आरजे विभिन्न एडवरटाइजमेंट कंपनियों के लिए भी काम कर अपनी आवाज की बदौलत अच्छी कमाई कर सकते हैं। विभिन्न ब्रांड के प्रोडक्ट के प्रमोशन के लिए भी वे अपनी आवाज रिकॉर्ड करवाते हैं।

वीडियो जॉकी
एक वीजे का काम न केवल म्यूजिक शो को होस्ट करना होता है, बल्कि टीवी पर फोन-इन-प्रोग्राम, टॉक शो, रियलिटी शो आदि को भी बखूबी हैंडल करना होता है, ताकि दर्शकों को टीवी सेट के साथ बांध कर रखा जा सके। वीजे का मुख्य काम टेलीविजन पर म्यूजिक से संबंधित विभिन्न शोज का संचालन करना होता है। वीजे को न केवल कैमरे के सामने अपने को प्रस्तुत करना होता है, बल्कि ऑफ-कैमरा भी कई अन्य काम उसे करने होते हैं, जैसे प्रोग्राम की थीम का सलेक्शन करना, शो के लिए स्क्रिप्ट तैयार करना और प्रोग्राम से मेल खाते हुए गानों का सेलेक्शन करना।

वीजे को म्यूजिक के क्षेत्र में हो रही तमाम हलचलों से अपने को वाकिफ रखना पड़ता है। लेटेस्ट म्यूजिक वीडियो, म्यूजिक स्टार्स, सिंगर्स आदि के बारे में भी उसे अपने-आप को अपडेट रखना जरूरी होता है। सेंस ऑफ ह्यूमर भी काफी अच्छा होना चाहिए, ताकि लाइव-शो के दौरान आप दर्शकों के प्रश्नों का सटीक जवाब दे सकें।

स्किल्स
वीजे बनने के लिए भी किसी विशेष क्वालिफिकेशन की जरूरत नहीं पड़ती, पर यदि आपके पास मास कम्युनिकेशन, विजुअल कम्युनिकेशन या परफॉर्मिग आर्ट्स से संबंधित कोई क्वालिफिकेशन है तो यह सोने पर सुहागा साबित हो सकता है। वीजे के लिए सबसे जरूरी है म्यूजिक के प्रति दीवानगी। इसके साथ-साथ आपका टॉकेटिव नेचर का होना भी बहुत जरूरी होता है, क्योंकि शो के दौरान अपनी बातों के अंदाज से आपको दर्शकों के दिल में जगह बनानी पड़ती है। आवाज मधुर एवं कर्णप्रिय होनी चाहिए।

आरजे की पहचान जहां उसकी आवाज होती है, वहीं वीजे दर्शकों के बीच अपनी पहचान अपनी बॉडी लैंग्वेज, ड्रेसिंग सेंस, सेंस ऑफ ह्यूमर आदि द्वारा बनाता है। ऐसे में आपको बॉडी लैंग्वेज की पूरी समझ होनी चाहिए, साथ ही फेशियल एक्सप्रेशन भी यहां बहुत मायने रखते हैं। इसके अलावा वीजे की पर्सनेलिटी भी काफी अच्छी होनी चाहिए। इन स्किल्स को उभारने के लिए जो कोर्सेज करवाए जाते हैं, सामान्यतया उनकी अवधि 3 से 6 महीने तक होती है, पर अधिक अवधि के कोर्स भी किए जा सकते हैं।

संभावनाएं
एमटीवी, चैनल वी, बी4यू म्यूजिक आदि चैनलों के अलावा आजकल काफी क्षेत्रीय म्यूजिक चैनल और टेलीविजन चैनल खुल गए हैं, जहां रोजगार की काफी गुंजाइश है। अच्छे और अनुभवी वीजे को गेम्स शो, रियलिटी शो आदि को होस्ट करने के लिए भी हायर किया जाता है। एक वीजे मॉडलिंग, थियेटर, फिल्म आदि में भी अपना भाग्य आजमा सकता है। समय-समय पर विभिन्न टीवी चैनलों द्वारा वीजे हंट का आयोजन किया जाता है, जहां आमतौर पर स्क्रीन टैस्ट एवं ऑडिशन द्वारा वीजे का चयन किया जाता है। इसके अलावा टीवी चैनलों द्वारा ड्रामा स्कूल और ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट्स से भी वीजे की सीधी भर्ती की जाती है।

डिस्क जॉकी
एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री के साथ डीजे का काफी गहरा रिश्ता है और आजकल तो छोटी-से-छोटी पार्टी भी डीजे के बिना अधूरी मानी जाती है। डीजे यानी डिस्क जॉकी वह होता है, जो किसी पार्टी, क्लब या अन्य समारोह में उपस्थित लोगों की पसंद को ध्यान में रखते हुए रिकॉर्डेड म्यूजिक का सलेक्शन करता है, साथ ही उसे प्ले करता है। वैडिंग पार्टी, बर्थ डे पार्टी, अवॉर्ड फंक्शंस आदि सभी की अपनी अलग-अलग थीम होती है और ऐसे में एक डीजे के लिए काफी महत्त्वपूर्ण हो जाता है कि वह उस थीम और इवेंट से मेल खाता हुआ म्यूजिक प्ले करे।

स्पिन गुरु डीजे एंड रीमिक्सिंग एकेडमी के डायरेक्टर और सुप्रसिद्ध डीजे ‘जीतेश’ कहते हैं, इस क्षेत्र में नाम है, पैसा है और काफी शोहरत है। आज के म्यूजिक क्रेजी युवाओं के लिए तो यह करियर का बहुत अच्छा विकल्प है। डीजे बनने की चाहत रखने वाले युवाओं को म्यूजिक का प्यासा होना चाहिए। ऐसा लगना चाहिए कि आपकी रग-रग में म्यूजिक बसा है, तभी आप एक सफल डीजे बन सकते हैं।

यह क्षेत्र आपसे कठिन परिश्रम मांगता है। एक डीजे को इस बात का बखूबी अंदाजा होना चाहिए कि पब्लिक की क्या पसंद है, साथ ही किस तरह से लोगों का भरपूर मनोरंजन किया जा सकता है।

उसमें एक अच्छे होस्ट की सभी क्वालिटी होना जरूरी है, ताकि ऐसा लगे कि आप एक फ्रैंडली एनवायरमेंट में प्रोग्राम पेश कर रहे हैं। डीजे के अंदर धैर्य का होना बहुत ही जरूरी है, ताकि आप  पब्लिक के रिएक्शन को सही से हैंडल कर सकें। एक टीम में काम करने के कारण टीम वर्क की भावना का होना भी आवश्यक होता है।

डीजे को विभिन्न म्यूजिक स्टाइल, लेटेस्ट एलबम, करेंट, हिट्स और म्यूजिक ट्रैंड्स का मास्टर होना पड़ता है। इस बात का पूरा ज्ञान होना चाहिए कि कब और कहां किस तरह का म्यूजिक प्ले करना है।

नेशनल डीजे चैंपियनशिप के विजेता रह चुके जीतेश आगे बताते हैं कि आज डीजे के लिए अवसरों की कोई कमी नहीं है। डिस्को, पब, क्लब जैसी जगहों पर ढेरों अवसर हैं। इतना ही नहीं, डीजे के रूप में अनुभव हो जाने पर वे रीमिक्सिंग, म्यूजिक प्रोडक्शन, रिकॉर्डिग आदि क्षेत्रों में भी काम कर सकते हैं। स्वयं की भी यूनिट खोली जा सकती है।

अपनी काबिलियत देख कर कदम रखें
मनीष आजाद - आरजे, एफएम रेनबो

वर्तमान माहौल में इस क्षेत्र में करियर की क्या संभावनाएं हैं?
लगभग हर बड़े शहर में आज एफएम स्टेशन खुल गए हैं, जहां टेलेंटेड युवाओं के लिए जॉब की कोई कमी नहीं है। इंटरनेट रेडियो में भी काफी अवसर हैं।

सफल आरजे बनने के लिए युवाओं में किस तरह की क्वालिटी होनी चाहिए?
सबसे जरूरी है क्रिएटिविटी। यदि आप क्रिएटिव नहीं हैं तो एक अच्छे आरजे और वीजे नहीं बन सकते। इसके अलावा संगीत के प्रति आप में लगाव होना चाहिए, साथ ही आपकी कम्युनिकेशन स्किल काफी अच्छी होनी चाहिए। करेंट अफेयर्स में भी रुचि रखना जरूरी है।

किसी संस्थान में प्रवेश के समय किन बातों का ध्यान रखें?
छात्रों को संस्थान का बैकग्राउंड, फीस स्ट्रक्चर आदि की पूरी जानकारी लेनी चाहिए। फैकल्टी का बैकग्राउंड और प्रोफाइल जरूर देखें। साथ ही इस बात की भी जानकारी लें कि कोर्स के बाद प्लेसमेंट में वहां से कुछ सहायता दी जाएगी या नहीं।

शुरुआती एंट्री किस तरह मिल सकती है?
विभिन्न एफएम चैनल ऑडिशन का आयोजन करते हैं। इसके अलावा रेडियो चैनलों के एचआर डिपार्टमेंट से भी संपर्क कर अपना रिज्यूमे और वॉयस सैंपल सीडी जमा करा सकते हैं।

...........................................................................................................

आत्मविश्वास से मिली प्रेरणा
ओपी राठौर, रेडियो जॉकी

बचपन का मासूम-सा कौतूहल कई बार इंसान को बुलंदियों तक पहुंचाने की शक्ति दे देता है। कारखानों के शोरगुल के बीच एकाकी बीत रहा था मेरा बचपन। इसी दौरान न जाने कब मुझे रेडियो से प्यार हो गया। एक छोटे से डब्बे से निकलती आवाज मेरी दोस्त बनती चली गयी और मेरी प्रेरणा भी। वक्त बीता और मैं युवा हो गया। रेडियो की दुनिया को जानने और समझने की कोशिशें बलवती हो गयीं। मैंने सबसे पहले युववाणी और आकाशवाणी के लिए काम करना शुरू किया। एफएम के जीरो आवर शो से शुरुआत करने वाले ओपी राठौर जल्द ही घर-घर में लोकप्रिय हो गये। वह कहते हैं, जब लोग मुझे जानने लगे तो मैंने अपने दायरे को और बढ़ाया और मैं एंकरिंग, लाइव शोज और विज्ञापनों को अपनी आवाज देने लगा। राठौर का मानना है कि अच्छा कलाकार बनने की पहली शर्त होती है, अच्छा इंसान बनना। दूरदर्शन के कई वार्षिक पुरस्कारों से नवाजे जा चुके ओपी राठौर को सम्मानित पीएसबीटी अवॉर्ड भी मिल चुका है।

परामर्श

परवीन मल्होत्रा
निदेशक, करियर गाइडेंस इंडिया

मैं रेडियो जॉकी बनना चाहती हूं। इसके लिए क्या कोर्स करना जरूरी है। - मेधा, दिल्ली
वीडियो, रेडियो या डिस्क जॉकी को करियर के रूप में अपनाया जा सकता है, लेकिन यह क्षेत्र कुछ खास योग्यताओं की मांग करते हैं। आप में हाजिर जवाबी, लोगों से मिलना-जुलना और क्रिएटिविटी जैसे गुणों का होना बहुत जरूरी है। जनता की पसंद का म्यूजिक और म्यूजिक के विभिन्न प्रकारों की जानकारी भी एक अच्छा जॉकी बनने के लिए बेहद जरूरी है। आजकल जॉकी कमाऊ प्रोफेशन बन चुका है। जॉकी की अपनी एलबम भी होती है। औसतन यहां के डीजे 25 हजार से 75 हजार के बीच कमाते हैं। अपने काम की सीडी को रेडियो और एफएम स्टेशन तक पहुंचाएं और उनके संपर्क में रहें।

रेडियो जॉकी के लिए क्या क्वालिफिकेशन चाहिए। - रविन्द्र गौतम, गाजियाबाद
एक सफल डीजे बनने के लिए जरूरी नहीं कि कोई योग्यता हो, मगर कुछ ट्रेनिंग से आप इस पेशे के टूल से वाकिफ हो जाएंगे। आपका टेलेंट, आत्मविश्वास और क्रिएटिविटी और विभिन्न म्यूजिक की जानकारी आपके लिए अधिक जरूरी है।

वीजे कैसे बन सकते हैं, इससे संबंधित तैयारी के बारे में बताएं? - राजीव, सरोजनी नगर, दिल्ली
एम टीवी की मलाइका अरोड़ा, निखिल चिन्नपा, साइरस बरोचा आदि व चैनल वी के पूरब कोहली, सुषमा रेड्डी आदि मशहूर वीजे के नाम हैं। म्यूजिक चैनल की यह श्रृंखला (एमटीवी, वी चैनल, बी4यू) न सिर्फ दर्शकों का अलग तरीके से मनोरंजन कर रही है, बल्कि नौकरी के नए मानदंड भी बना रही है। जितने आप बातूनी, खुशमिजाज होंगे, उतने ही आप सफल माने जाएंगे। इन गुणों की वजह से आपको दूसरा अच्छा चैनल अपने साथ लाना चाहेगा। हालांकि वीजे बनने के लिए विशेष योग्यता की जरूरत नहीं होती, पर अगर आप जर्नलिज्म, मास कम्युनिकेशन, एक्टिंग, रेडियो और परफॉर्मिग आर्ट्स से हैं तो शुरुआत की जा सकती है। सबसे पहले आपको खुद को इस पेशे के लिए तैयार करना होगा। ऐसे सभी कार्यक्रमों को देखना शुरू करें, जिससे आपकी बॉडी लैंग्वेज, बोलने के अंदाज में सुधार आए। स्टेज प्रोग्राम करने के किसी भी अवसर को न जाने दें, फिर वह आपका कॉलेज प्रोग्राम हो या फिर कोई स्थानीय कार्यक्रम। जब आप खुद को तैयार कर लें तो अपने पोर्टफोलियो के साथ ऑडिशन के लिए साइनअप करें। अगर आप दिखने में आकर्षक हैं तो यह आपके लिए अतिरिक्त लाभ होगा।

प्रमुख संस्थान
इंडियन इंस्टीटयूट ऑफ मास कम्युनिकेशन, नई दिल्ली
वेबसाइट : www.iimc.gov.in
पता : अरुणा आसफ अली मार्ग, न्यू जेएनयू कैंपस, नई दिल्ली-110067
कोर्स : रेडियो जॉकी
योग्यता : 10+2 (ग्रेजुएट को प्राथमिकता दी जाती है)
कंप्यूटर का ज्ञान होना जरूरी है।
सीटों की संख्या : 30
चयन प्रक्रिया : इंटरव्यू के आधार पर
फीस : 25,000 रु.
उम्र सीमा : 18 से 25 साल
(विशेष श्रेणी के आवेदकों के लिए 5 साल तक की छूट)

अन्य प्रमुख संस्थान
- जामिया मिल्लिया इस्लामिया, नई दिल्ली
वेबसाइट : www.jmi.nic.in
- जेवियर इंस्टीट्यूट ऑफ कम्युनिकेशन, मुंबई
वेबसाइट : www.xaviercomm.org
- इंटरनेशनल स्कूल ऑफ मीडिया एंड एनटरटेनमेंट स्टडीज
वेबसाइट : www.isomes.com
- पर्पल रोज आर्ट्स एंड मीडिया इंस्टीट्यूट
वेबसाइट : www.purpleroseartsandmedia.com
- एनआरएआई स्कूल ऑफ मास कम्युनिकेशन, दिल्ली
वेबसाइट : www.nraismc.com
- स्प्लिंटर्स डीजे स्कूल, मुंबई
वेबसाइट : www.djsurr.com
- स्पिन गुरु डीजे एंड रीमिक्सिंग एकेडमी, नई दिल्ली
वेबसाइट : www.spingurus.com
- एशियन एकेडमी ऑफ फिल्म एंड टेलीविजन, नोएडा
वेबसाइट : www.aaft.com

कोचिंग संस्थान
अनुभव प्राप्त डीजे, आरजे स्वयं की कोचिंग सुविधा उपलब्ध कराते हैं। इसके लिए वे क्लांइट के घर पर भी जाकर ट्रेनिंग देते हैं और प्रेक्टिकल वर्क के लिए किसी स्टूडियो का सहारा लेते हैं। अधिकतर प्रसिद्ध आरजे और वीजे ग्रुप क्लासेज और होम क्लासेज की भी सुविधा उपलब्ध कराते हैं। इसके लिए विभिन्न आरजे एवं वीजे के प्रोफाइल को आप नेट पर भी सर्च कर सकते हैं।

स्कॉलरशिप
अधिक अवधि के कोर्सेज के लिए कुछ संस्थानों द्वारा अपने स्तर पर ही मेधावी छात्रों के लिए स्कॉलरशिप मुहैया करवाई जाती है।

एजुकेशन लोन
कुछ संस्थानों में कोर्स अवधि के अनुसार फीस अधिक होती है। ऐसे में छात्रों की सुविधा को ध्यान में रख कर कुछ संस्थानों का बैंकों के साथ समझौता रहता है, जो इन छात्रों को एजुकेशन लोन उपलब्ध कराते हैं। लोन की सुविधा के लिए छात्रों को एडमिशन लेटर और मार्कशीट की फोटो कॉपी के साथ फॉर्म भर कर संबंधित बैंक में आवेदन करना होता है। एजुकेशन लोन के बारे में विशेष जानकारी आप संस्थान से प्राप्त कर सकते हैं, जहां आप एडमिशन लेना चाहते हैं। आमतौर पर बैंक फुल टाइम रेगुलर कोर्सेज के लिए लोन देते हैं।

नौकरी के अवसर
आरजे : आकाशवाणी, प्राइवेट एफएम चैनल जैसे एफएम फीवर, रेडियो मिर्ची, रेड एफएम, आदि में काफी अवसर हैं।
वीजे : एमटीवी, चैनल वी, बी4यू म्यूजिक आदि चैनलों के अलावा आजकल काफी क्षेत्रीय म्यूजिक चैनल और टेलीविजन चैनल खुल गए हैं, जहां रोजगार की काफी गुंजाइश है।
डीजे : डिस्को, पब, क्लब जैसी जगहों पर ढेरों अवसर हैं। इतना ही नहीं, डीजे के रूप में अनुभव हो जाने पर वे रीमिक्सिंग, म्यूजिक प्रोडक्शन, रिकॉर्डिग आदि क्षेत्रों में भी काम कर सकते हैं। स्वयं की भी यूनिट खोली जा सकती है।

वेतन
आरजे : शुरूआती दौर में 10 से 15 हजार रुपए प्रतिमाह है।
वीजे : शुरुआती दौर में प्रतिमाह तकरीबन 15 से 25 हजार रुपए। अपनी पहचान बन जाने के बाद तो एक वीजे की आमदनी प्रतिमाह लाखों तक पहुंच जाती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सरगम का जुनून जॉकी