DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एक टैस्ट से एडमिशन मिलेगा तीन कोर्स में

दिल्ली विश्वविद्यालय के प्रोफेशनल कोर्सेज में दाखिला पाने की ख्वाहिश रखने वाले छात्रों को अब तरह-तरह के टैस्ट पास करने की माथापच्ची नहीं करनी पड़ेगी। विश्वविद्यालय ऐसे छात्रों की राह आसान करने जा रहा है। यहां बीबीएस, बीएफआईए और बीबीई में दाखिले के लिए इस बार से एक ही टैस्ट लिया जा रहा है। संयुक्त प्रवेश परीक्षा के जरिए छात्र तीन कोर्सों में दाखिला पा सकते हैं, हालांकि प्रतियोगिता इसके लिए भले ही थोड़ी मुश्किल हो गई है। खास बात यह कि इस परीक्षा में बैठने के लिए अब मैनुअल फार्म भरने की जरूरत भी नहीं है। छात्रों को इस परीक्षा का फार्म ऑनलाइन भरना होगा। फार्म भी 5 अप्रैल से ऑनलाइन उपलब्ध है। इसे 4 मई तक भरा जा सकता है। प्रवेश परीक्षा 6 जून को है। यह दिल्ली, कोलकाता, चंडीगढ़ और लखनऊ में होगी।

बीबीएस, बीएफआई और बीबीई : बीबीएस यानी बैचलर ऑफ बिजनेस स्टडीज अंडर ग्रेजुएट मैनेजमेंट प्रोग्राम है। बीएफआईए बैचलर ऑफ फाइनेंशियल एंड इनवेंस्टमेंट एनालिसिस है। यह फाइनेंस का स्पेशलाइज्ड कोर्स है। यह बाजार के हिसाब से तैयार किया गया कोर्स है। इसमें छात्रों को फाइनेंस एप्लीकेशन पढ़ाया जाता है। बीबीई में बाजार के इस्तेमाल में आने वाले अर्थशास्त्र पर केन्द्रित पाठय़क्रम है।

यह अर्थशास्त्र ऑनर्स से इस मायने में अलग है कि इसमें अर्थशास्त्र का इतिहास, उसका विकास और तरह-तरह के सिद्धांतों को नहीं पढ़ाया जाता। पहले बीबीएस और बीएफआईए में दाखिले के लिए एक प्रवेश परीक्षा होती थी और बीबीई की अलग। अब तीनों में दाखिला एक संयुक्त प्रवेश परीक्षा के जरिए होगा।

सिर्फ ऑनलाइन आवेदन
संयुक्त प्रवेश परीक्षा में शामिल होने के लिए आवेदन ऑनलाइन करना होगा। अन्य तरह से फार्म नहीं भरे जाएंगे। आवेदन की फीस भी ऑनलाइन- डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड, ऑनलाइन बैंकिंग के जरिए भरनी होगी। हालांकि छात्रों को छूट दी गई है कि वह चाहें तो आवेदन के बाद ऐक्सिस बैंक में कैश के रूप में भी फीस जमा करा सकते हैं। आवेदन के बाद एडमिट कार्ड भी ऑनलाइन ही उपलब्ध कराया जाएगा। ऑनलाइन का पता है- www.sscbsdu.ac.in

प्रवेश परीक्षा को फैकल्टी ऑफ एप्लायड सोशल साइंस एंड ह्यूमेनिटीज करा रही है। दाखिले की प्रक्रिया और कोर्स के बारे में आवश्यक जानकारी वेबसाइट के जरिए मुहैया करवाई जाएगी। वेबसाइट को अपडेट किया जा रहा है।

अंग्रेजी और गणित अनिवार्य
इस परीक्षा में बैठने के लिए 12वीं में अंग्रेजी और गणित जरूर पढ़ी होनी चाहिए। प्रवेश परीक्षा में बैठने के लिए 60 फीसदी अंक होने चाहिए। अंक बेस्ट फोर विषय के आधार पर गिने जाएंगे, जिनमें अंग्रेजी और गणित विषय भी होंगे। इसके अलावा दो एकेडमिक विषय के अंक गिने जाएंगे। ये विषय हैं- एकाउंटेंसी, बायोलॉजी, बायोटेक्नोलॉजी, बिजनेस स्टडीज, कैमिस्टी, कॉमर्स, कंप्यूटर साइंस, इकोनॉमिक्स, एंटरप्रन्योरशिप, भूगोल, इतिहास, दर्शनशास्त्र, भौतिकी, राजनीतिशास्त्र, मनोविज्ञान और समाजशास्त्र। इन विषयों में से कोई दो 12वीं तक जरूर पढ़े होने चाहिए।

प्रवेश परीक्षा की रूपरेखा
छात्रों से दो घंटे की परीक्षा ली जाएगी। इसमें चार भागों से करीब 120 प्रश्न पूछे जाएंगे। इनमें क्वांटिटेटिव एबिलिटी, रीजनिंग एंड एनेलिटिक एबिलिटी, जनरल इंग्लिश और बिजनेस एंड जनरल अवेरयनेस से संबंधित प्रश्न होंगे। प्रत्येक प्रश्न के चार अंक होंगे। गलत उत्तर देने पर नेगेटिव अंक का प्रावधान रखा गया है। गणित के प्रश्न 12वीं स्तर तक के होंगे। परीक्षा के बाद सफल उम्मीदवारों को बीबीएस और बीएफआईए के छात्रों को समूह चर्चा और साक्षात्कार से भी गुजरना होगा। इसके बाद अंतिम मेरिट लिस्ट बनेगी। बीबीई के छात्रों की सीधे-सीधे काउंसलिंग होगी। दाखिले में 12वीं के अंक को 50 फीसदी और प्रवेश परीक्षा को 50 फीसदी वेटेज मिलेगी। ऐसे में जिन छात्रों के 12वीं में अंक कम हैं, उन्हें टैस्ट में बेहतर करना होगा।

विशेषज्ञों की राय
शिक्षक कुमार विजय के मुताबिक इस बार कोर्स भी संशोधित होगा। कोर्स को प्रासंगिक बनाए रखने के लिए इसके पेपरों में फेरबदल किया जा रहा है। बीबीएस के छह सेमेस्टर में चार-चार पेपर छात्रों को पढ़ने होंगे। इसी तरह बीएफआईए में भी। सुखदेव कॉलेज की प्राचार्य पूनम वर्मा के मुताबिक यह कोर्स रोजगार की दृष्टि से ज्यादा उपयोगी बने, इसलिए आवश्यक बदलाव लाए गए हैं। जुलाई से संशोधित पाठय़क्रम छात्रों को पढ़ने को मिलेगा।

पढ़ाई कहां और कितनी सीटें
बीबीएस की पढ़ाई तीन कॉलेजों में होती है, इनमें सबसे पुराना शहीद सुखदेव कॉलेज है। दो साल पहले यह कोर्स दीनदयाल उपाध्याय और केशव महाविद्यालय में शुरू हुआ है। इसमें कुल सीटें 275 हैं। बीएफआईए की पढ़ाई सिर्फ सुखदेव कॉलेज में होती है। इसकी कुल सीटें 62 हैं। बीबीई की पढ़ाई दस कॉलेजों में होती है। ये कॉलेज हैं- भीमराव अंबेडकर, सीवीएस, गार्गी, लक्ष्मीबाई, अग्रसेन, आरएलए सांध्य, शिवाजी, गुरुगोबिन्द सिंह, गुरुनानक देव और गुरुतेग बहादुर खालसा कॉलेज। इसमें सामान्य वर्ग के लिए कुल 278 सीटें हैं। अन्य सीटें ओबीसी, एससी व एसटी के लिए आरक्षित हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एक टैस्ट से एडमिशन मिलेगा तीन कोर्स में