DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुंबई पर लगाम कस चेन्नई सेमीफाइनल की दौड़ में

मुंबई पर लगाम कस चेन्नई सेमीफाइनल की दौड़ में

भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की चेन्नई सुपरकिंग्स ने शानदार गेंदबाजी और क्षेत्ररक्षण से मंगलवार को यहां इंडियन प्रीमियर लीग के टवेंटी20 मैच में मुंबई इंडियंस के विजयी अभियान पर लगाम कसते हुए 24 रन से जीत दर्ज की और सेमीफाइनल की उम्मीदें बनाये रखीं।

कप्तान सचिन तेंदुलकर की मुंबई इंडियंस की अनुशासित गेंदबाजी और बेहतरीन क्षेत्ररक्षण के आगे टास जीतकर बल्लेबाजी करने उतरी चेन्नई सुपरकिंग्स चेपक स्टेडियम में चार विकेट पर 165 रन ही बना सकी थी, लेकिन गेंदबाजों और क्षेत्ररक्षकों के शानदार प्रदर्शन के मेजबान टीम ने मुंबई को निर्धारित ओवरों में नौ विकेट पर 141 रन ही बनाने दिये।
    
रायल चैलेंजर्स बेंगलूर और अब इस मैच में हारने के बावजूद नौ मैचों में सात जीत से 14 अंक लेकर तालिका में शीर्ष पर चल रही मुंबई का अंतिम चार में पहुंचना तय है। चेन्नई की टीम इस जीत से 10 मैचों में 10 अंक हासिल कर चौथे स्थान पर पहुंच गयी, जिससे उसकी अंतिम चार की उम्मीदें जीवंत हैं। चेन्नई को मुंबई के खिलाफ पिछले मुकाबले में पांच विकेट से हार का सामना करना पड़ा था, लेकिन आज धोनी के धुरंधरों ने इस शानदार जीत से मजबूत टीम से बदला भी चुकता कर लिया।

मुंबई के स्पिनर हरभजन सिंह ने अंत में तीन गगनचुंबी छक्के और दो चौके जमाकर ताबड़तोड़ 33 रन बनाकर मैच का रोमांच बढ़ा दिया, लेकिन यह जीत के लिये नाकाफी था। अपने पसंदीदा मैदान पर तेंदुलकर नौवें ओवर में 38 रन के स्कोर पर रिटायर्ड हर्ट हो गये, लेकिन वह आर मैकलारेन (01) के रूप में सातवां विकेट गिरने के बाद 15वें ओवर में फिर बल्लेबाजी करने उतरे।

शानदार फार्म में चल रहे तेंदुलकर को अगले ओवर में एक बार जीवनदान भी मिला, लेकिन तिलन तुषारा की गेंद पर वह 45 रन के स्कोर पर आउट हो गये और टीम के शीर्ष स्कोरर रहे। उन्होंने 35 गेंद का सामना करते हुए छह चौके जमाये । चेन्नई के खिलाफ पिछले मैच में इस भारतीय स्टार बल्लेबाज ने 72 रन की शानदार पारी खेली थी। हरभजन की 23 गेंद में 33 रन की पारी के अलावा कोई भी बल्लेबाज बड़े स्कोर तक नहीं पहुंच पाया।

सलामी बल्लेबाज शिखर धवन 16 रन बनाकर सातवें ओवर में तुषारा की गेंद पर बोल्ड हो गये। अंबाती रायडू (03), डवेन ब्रावो (02) सौरभ तिवारी (14) और किरोन पोलार्ड (05) भी सस्ते में पवेलियन लौट गये। चेन्नई की तरफ से आर अश्विन ने चार ओवर में 22 रन देकर और तुषारा ने 2.3 ओवर में दो दो विकेट हासिल किये।
   
इससे पहले मुंबई ने चेन्नई को पिछले मैच की तरह शानदार बल्लेबाजी का दोहराव नहीं करने दिया, जिसमें मेजबान टीम ने इसी मैदान पर पांच विकेट पर 246 रन बनाकर आईपीएल का सबसे बड़ा स्कोर खड़ा किया था । चेन्नई के ज्यादातर बल्लेबाजों ने अच्छी शुरूआत तो की लेकिन वे इसे बड़ी पारी तक नहीं पहुंचा सके।

मुंबई के गेंदबाजों को क्षेत्ररक्षकों से बेहतर सहयोग मिला, जिन्होंने कुछ बेहतरीन प्रयास कर विपक्षी टीम के बल्लेबाजों को रन नहीं बटोरने दिये। मैथ्यू हेडन 31 गेंद में 35 रन बनाकर शीर्ष स्कोरर रहे जबकि धोनी ने 18 गेंद में 31 रन और एस बद्रीनाथ ने 22 गेंद में नाबाद 30 रन जोड़े।

चेन्नई के शीर्ष क्रम ने धीमी शुरूआत की, पिछले मैच के शतकवीर मुरली विजय (14 रन) चौथे ओवर में हरभजन की गेंद पर बोल्ड होकर पवेलियन लौट गये। दूसरे सलामी बल्लेबाज हेडन भी शांत दिखे और मुंबई के गेंदबाजों ने भी उन्हें बल्ला घुमाने का ज्यादा मौका नहीं दिया, जिससे पांचवें ओवर तक बोर्ड पर केवल 35 रन बने थे।
   
सुरेश रैना की तेजी से चेन्नई ने थोड़ी रन गति बढ़ायी। रैना ने नौवें ओवर में डवेन ब्रावो की गेंद पर एक विशाल छक्का जड़ा, लेकिन दो गेंद के बाद ही डीप मिडविकेट पर धवन को कैच देकर विकेट गंवा बैठे। वह 18 गेंद में 23 रन ही बना सके। दस ओवर बाद चेन्नई के दो विकेट पर 85 रन थे। आठ विकेट रहते हुए उनसे बड़े स्कोर की उम्मीद की जा रही थी, लेकिन मुंबई के गेंदबाज पोलार्ड ने दो गेंद में दो विकेट हासिल कर चेन्नई को करारा क्षटका दिया।
   
रैना के बाद क्रीज पर उतरे धोनी ने कुछ बेहतरीन शाट से जल्दी जल्दी रन जुटाये, लेकिन पोलार्ड की गेंद को टाइम नहीं कर पाये और रिटर्न कैच दे बैठे। उनकी पारी में चार चौके लगे। अगली गेंद पर हेडन की दो चौके और एक छक्के की शांत पारी का भी अंत हो गया, आर सतीश ने लांग आन पर पोलार्ड के ओवर में आसान कैच लपका। 14वें ओवर तक चेन्नई के चार विकट पर 119 रन थे।

पोलार्ड को हैट्रिक से महरूम करने वाले बद्रीनाथ और आईपीएल तीन में अपना पहला मैच खेल रहे माइकल हसी (15 गेंद में 14 रन) भी आखिर में विस्फोटक बल्लेबाजी नहीं कर पाये और अंतिम पांच ओवरों में केवल 41 रन बने। बल्ले से उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन नहीं कर पा रहे पोलार्ड मुंबई की तरफ से सफल गेंदबाज रहे, उन्होंने चार ओवर में 27 रन देकर दो विकेट प्राप्त किये। ब्रावो और हरभजन के नाम एक-एक विकेट रहा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मुंबई पर लगाम कस चेन्नई सेमीफाइनल की दौड़ में