DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जेके जूट मिल फिर बंद, प्रबंधन को कारण बताओ नोटिस

उत्तर प्रदेश के कानपुर में चर्चित जेके मिल एक बार फिर बंद कर दी गई है, लेकिन मिल मालिक का कहना है कि मिल में कुछ दिन के लिए ही काम बंद किया गया हैं।

इस मामले में मजदूरों का दावा है कि मालिकों ने मिल में अघोषित तालाबंदी कर दी है, जिससे करीब 2700 मजदूर एक बार फिर बेरोजगार होकर सड़क पर आ गए हैं।

मिल बंद होने पर श्रम विभाग ने मंगलवार को मिल प्रबंधन को कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए पूछा है कि उन्होंने बिना श्रम विभाग को बताए कैसे मिल बंद कर दिया।

श्रम विभाग ने मिल प्रबंधन को इस कारण बताओ नोटिस का जवाब देने के लिए 13 अप्रैल तक का समय दिया हैं। जेके जूट मिल के महाप्रबंधक के बीसी बरोड़िया के अनुसार पिछले 22 मार्च से मजादूर आंदोलन पर थे और मिल का उत्पादन लगातार घटता जा रहा था।

उन्होंने कहा कि पहले मिल का उत्पादन 70 टन प्रति दिन था, जो अब घटकर 20 से 22 टन हो गया था। ऐसी स्थिति में काम करना मुश्किल हो रहा था, इसलिए सोमवार से मिल में कार्य स्थगित कर दिया गया हैं।

अपर श्रमायुक्त श्रीराम सिंह ने मंगलवार को संवाददाताओं को बताया कि जेके जूट मिल में प्रबंधन ने कार्यस्थगित कर ताला लगा दिया हैं।

उन्होंने कहा कि नियम के मुताबिक मिल बंद किए जाने से पहले श्रम विभाग को सूचित किया जाना चाहिए। लेकिन जेके मिल प्रबंधन ने ऐसा नही किया और मिल बंद करने के बाद विभाग को सूचित किया हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जेके जूट मिल फिर बंद, प्रबंधन को कारण बताओ नोटिस