DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

छत्तीसगढ़ हमले के बाद नक्सल प्रभावित राज्यों में हाई अलर्ट

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले में नक्सली हमले में 75 सुरक्षाकर्मियों की जान जाने के बाद पश्चिम बंगाल, झारखंड, उड़ीसा, आंध्र प्रदेश और महाराष्ट्र के माओवाद प्रभावित क्षेत्रों में पुलिस को हाई अलर्ट पर रखा गया है और गश्त बढ़ा दी गई है।

पश्चिम बंगाल के पुलिस महानिरीक्षक, कानून व्यवस्था एस पुरकायस्थ ने कोलकाता में कहा कि सभी पुलिस थानों और शिविरों को अत्यधिक सतर्कता बरतने को कहा गया है और कर्मियों को विशेषकर तीन माओवाद प्रभावित जिलों मिदनापुर, बांकुड़ा और पुएलिया में गश्त और चौकसी बढ़ाने के निर्देश दिये गये हैं।

राज्य के मुख्य सचिव अशोक मोहन चक्रवर्ती ने कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री पी़ चिदंबरम की पिछले सप्ताहांत यहां हुई यात्रा के दौरान उनसे मिले निर्देशों के अनुरूप माओवाद प्रभावित क्षेत्रों में अतिरिक्त सुरक्षा कदम उठाये गये हैं।

बिहार के पुलिस महानिदेशक नीलमणि ने कहा कि बिहार के सभी नक्सल प्रभावित जिलों में अलर्ट जारी कर दिया गया है। सभी पुलिस अधीक्षकों से माओवादियों के खिलाफ तलाशी अभियान तेज करने को कहा गया है। बिहार के 38 में से वाम उग्रवाद से प्रभावित 16 जिलों में सभी एहतियाती उपाय किये गये हैं।

आंध्र प्रदेश के पुलिस महानिदेशक आर आर गिरिश कुमार ने कहा कि पुलिस से विशेषकर छत्तीसगढ़, उड़ीसा और आंध्र, उड़ीसा़ और बिहार क्षेत्र से सटे जिलों में सतर्क रहने को कहा गया है।

झारखंड में प्रदेश भर में अलर्ट जारी कर दिया गया है। यहां 24 में से 18 जिले माओवाद प्रभावित हैं। उड़ीसा के गृह सचिव ए़ पी़ पाधी ने कहा कि नक्सल प्रभावित जिलों में पुलिस को हाई अलर्ट पर रखा गया है। यहां इसी सप्ताह माओवादियों ने 11 पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी थी।

महाराष्ट्र पुलिस ने भी सभी नक्सल प्रभावित क्षेत्रों और विशेषकर विदर्भ के पूर्वी क्षेत्र में चौकसी बढ़ा दी है। गढ़चिरौली के पुलिस अधीक्षक एस जयकुमार ने कहा कि विशेषकर पूर्वी विदर्भ और छत्तीसगढ़ से सटे सीमा क्षेत्रों में अलर्ट जारी कर दिया गया है। पुलिस से आईईडी और बारूदी सुरंगों से सतर्क रहने को कहा गया है।

उत्तर प्रदेश के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक, कानून व्यवस्था बज लाल ने लखनऊ में कहा कि प्रदेश के नक्सल प्रभावित जिलों मिर्जापुर, चंदौली और सोनभद्र में भी अलर्ट जारी कर दिया गया है। उत्तर प्रदेश के ये जिले छत्तीसगढ़ से सटे हैं। वहां केंद्रीय अर्धसैनिक बलों के 900 और पीएसी के 1,600 कर्मी तैनात किये गये हैं।

उन्होंने कहा कि हम सतर्क हैं लेकिन छत्तीसगढ़ में आज के नक्सली हमले के बाद सतर्कता और बढ़ा दी गयी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:छत्तीसगढ़ हमले के बाद नक्सल प्रभावित राज्यों में हाई अलर्ट