DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नाइटराइडर्स के बाद रायल्स को झटका देने उतरेंगे किंग्स

नाइटराइडर्स के बाद रायल्स को झटका देने उतरेंगे किंग्स

हार दर हार के बुरे दौर से गुजरने वाली किंग्स इलेवन पंजाब की टीम कोलकाता नाइटराइडर्स की सेमीफाइनल में पहुंचने की राह में रोड़ा अटकाने के बाद बुधवार को इंडियन प्रीमियर लीग में राजस्थान रायल्स की उम्मीदों को भी करारा झटका देने के लिए उतरेगी।

कप्तान शेन वार्न के करिश्माई स्पैल से कल रोमांचक मैच में डेक्कन चार्जर्स को हराकर रायल्स सेमीफाइनल के मजबूत दावेदारों में शामिल हो गया है। जिस तरह से नाइटराइडर्स पर जीत से किंग्स इलेवन ने खोया आत्मविश्वास हासिल किया है उसी तरह से रायल्स की टीम भी उत्साह से भरी है और ऐसे में बढ़े मनोबल की इस जंग के बेहद रोमांचक होने की संभावना है।

किंग्स इलेवन पंजाब ने अपने पिछले मैच में नाइटराइडर्स को हराकर हार का क्रम तोड़ा था और अगर मगर के जरिए अब भी उसकी सेमीफाइनल में पहुंचने की धुंधली आस बनी हुई लेकिन उसका सामना अब उस रायल्स से है जिसका घरेलू मैदान पर शानदार रिकार्ड रहा है और जिसके पास प्रेरणादायी कप्तान है।

पंजाब की टीम ने अब तक नौ में से सात मैच गंवाए हैं और वह अब बाकी बचे पांच मैचों में अपनी प्रतिष्ठा बनाए रखने के लिए उतरेगा। संगकारा शुरू से ही कहते रहे हैं कि उनकी टीम की तरफ से कोई एंकर की भूमिका नहीं निभा पा रहा है लेकिन पिछले मैच में महेला जयवर्धने ने यह काम किया। उन्होंने नाइटराइडर्स के खिलाफ नाबाद शतक जमाकर टीम की जीत में अहम भूमिका निभाई।

यही नहीं युवराज सिंह के बल्ले की चमक भी फिर से दिखने लगी है जो टीम के लिए अच्छी खबर है। युवराज के लचर प्रदर्शन को लेकर उन पर आरोप भी लगे लेकिन अब लगता है कि वह अपने बल्ले से आलोचकों को करारा जवाब देने के लिए तैयार हैं।

जहां तक रायल्स का सवाल है तो वह दस मैच में दस अंक लेकर अंक तालिका में चौथे स्थान पर है लेकिन यदि उसे सेमीफाइनल में अपनी जगह सुनिश्चित करनी है तो बाकी बचे चारों मैच में जीत करनी होगी।

रायल्स की बल्लेबाजी को आस्ट्रेलियाई शेन वाटसन के आने से मजबूती मिली है जिन्होंने अब तक दोनों मैच में अपनी जीवंत उपस्थिति दर्ज कराई है। वार्न ने स्वयं कहा कि वाटसन एक खिलाड़ी के रूप में दो खिलाड़ियों की भरपायी करते हैं और निश्चित तौर पर इस आलराउंडर के आने से उनकी टीम को जरूरी संतुलन मिला है।

उसकी सबसे बड़ी चिंता यूसुफ पठान का निरंतर एक जैसा प्रदर्शन नहीं कर पाना है। इस आलराउंडर ने दो तीन मैच में अपने विस्फोटक तेवर दिखाए लेकिन बाकी मैच में वह वैसा प्रदर्शन करने में असफल रहे। लगता है कि विपक्षी टीमों ने उनकी कुछ कमजोरियों को भांप लिया है जो यूसुफ के लिए भी चुनौती होगी। यहां उनका सामना अपने भाई इरफान से होगा और दो भाईयों की जंग में कौन अव्वल रहता है यह देखना भी दिलचस्प होगा।

ब्रेट ली के नहीं चल पाने के कारण पंजाब के लिए गेंदबाजी अगर अब भी चिंता का विषय है तो रायल्स के लिए वार्न, सिद्धार्थ त्रिवेदी और वाटसन इस विभाग में भी अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। वार्न ने चार्जर्स के खिलाफ ऐन वक्त पर चार विकेट लेकर अपनी टीम को दो रन से रोमांचक जीत दिलाई। सवाई मानसिंह स्टेडियम की पिच से भी स्पिन गेंदबाजों को मदद मिलने की संभावना है और ऐसे में यह दिग्गज लेग स्पिनर यहां भी अपना जादू बिखेर सकता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नाइटराइडर्स के बाद रायल्स को झटका देने उतरेंगे किंग्स