DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

करजई ने दी तालिबान में शामिल होने की धमकी

करजई ने दी तालिबान में शामिल होने की धमकी

अफगानिस्तान के राष्ट्रपति हामिद करजई ने सरकार में सुधारों के मुद्दे पर विदेशी पक्षों की ओर से दबाव पड़ने की स्थिति में राजनीतिक प्रक्रिया छोड़कर तालिबान में शामिल होने की धमकी दी है।

सांसदों ने बताया कि करजई ने इस सप्ताहांत बंद कमरे में हुई एक बैठक में यह बात कही। इस बैठक में कुछ सांसद भी मौजूद थे। कुछ दिन पहले ही करजई ने एक बयान दिया था जिसमें उन्होंने गत वर्ष के विवादास्पद चुनावों में हुई धांधली के लिए विदेशियों को जिम्मेदार ठहराया था।

पाकिस्तानी अखबार 'द न्यूज' के मुताबिक सांसदों का मानना है कि करजई के ताजा बयान में बात को बहुत बढ़ा चढ़ाकर पेश किया गया है। लेकिन इस बयान से यह साफ है कि आतंकवादियों से मुकाबले और अपनी सरकार को बनाए रखने के लिए अमेरिकी तथा उत्तर अटलांटिक सिंध संगठन (नाटो) सेनाओं के भरोसे रह रहे करजई की स्थिति डांवाडोल हो रही है।

अफगानिस्तान के पूर्वी प्रांत नंगरहार का प्रतिनिधित्व करने वाले फारुख मरेनई के अनुसार करजई ने कहा विदेशी दबाव बनने की स्थिति में मैं तालिबान में शामलि हो सकता हूं। विद्रोह विरोध में बदल सकता है। मरेनई ने कहा कि ऐसी स्थिति में आतंकवादियों की गतिविधियां जनता द्वारा चुनी हुई सरकार के विरुद्ध विद्रोह नहीं बल्‍कि देश में विदेशी दखल का प्रतिरोध माना जाएगा।

मरेनई ने बताया कि बैठक में करजई काफी परेशान नजर आ रहे थे और उन्होंने सांसदों से पूछा कि संसद ने राष्ट्रपति की शक्तियों में बढ़ोतरी करने वाला कानून सुधार विधेयक पिछले हफ्ते नामंजूर क्यों कर दिया। दो अन्य सांसदों ने भी पुष्टि की कि करजई ने दो बार तालिबान में शामलि होने की धमकी दी।

व्हाइट हाउस के प्रवक्ता राबर्ट गिब्स ने करजई की इस धमकी को चिंता का विषय बताया। उन्होंने कहा कि हम इस बयान से परेशान हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:करजई ने दी तालिबान में शामिल होने की धमकी