DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्यार तो पा लिया पर जिंदगी के लाले

मोहब्बत की राहें। जिंदगी भर का संघर्ष। अपनों से दुश्मनी। समाज से जंग। प्यार करने वाले पुलों से क्यों कूद रहे हैं, ट्रेनों के आगे छलांग क्यों लगा रहे हैं? क्योंकि जमाना जीने नहीं दे रहा। प्यार में अनीता से अनीसा बनी इस युवती की कहानी भी ऐसी ही है। फराज की मोहब्बत में उसने सबसे बगावत की है। अब अपने संसार में वह खुश है मगर अपने उसे जीने नहीं दे रहे। और तो और पुलिस भी उनके लिए खलनायक बनी है।


हारकर, अनीसा ने एसएसपी दफ्तर पर भूख हड़ताल करने की ठानी है। सोमवार को वह अपने शौहर फराज उर्फ सरफराज के साथ जिलाधिकारी और कप्तान से मिलने आई थी। इस उम्मीद में अफसर सुनेंगे तो उसका साथ देंगे मगर मुलाकात ही नहीं हुई। कलेक्ट्रेट में अनीसा ने बताया कि वह शहीदनगर की रहने वाली है। फराज का घर भी वहीं है। पहले उसका नाम अनीता था। करीब ढ़ाई साल पहले सरफराज से उसे प्यार हुआ। इसके बाद हमने बाहर जाकर शादी कर ली थी।दूसरे धर्म के नौजवान से शादी को घरवाले तैयार नहीं थे मगर मैं किसी के आगे नहीं झुकी। निकाह के बाद मैने अनीसा नाम रख लिया। हम दोनों बालिग थे। फिर भी घरवालों ने मेरे अपहरण की रिपोर्ट सयाहिबाबाद थाने में लिखा दी। लौटी तो कोर्ट में बयान दिए। घरवाले फिर भी पुलिस के जरिए दबाव बनाते रहे। मजबूर होकर फराज के साथ मैंने दिल्ली हाईकोर्ट की शरण ली। वहां से हमें न्याय भी मिला और पुलिस से सुरक्षा का आदेश भी। अब मैं अपने ससुराल में रह रही हूं और गर्भवती भी हूं। मगर मायकेवाले अब भी पीछे पड़े हैं।


अनीसा का आरोप है कि उसे आए दिन धमकियां मिल रही हैं। पुलिस ने पति और ससुर के खिलाफ कुछ दिन पहले फिर झूठा मुकदमा दर्ज कर दिया और उनको गिरफ्तार भी कर लिया। अनीसा और फराज ने प्रशासन से सुरक्षा की गुहार लगाई है। दोनों ने अनहोनी की आशंका जताई है। अनीसा ने ऐलान किया है कि यदि अफसरों ने उसकी सुनवाई नहीं की तो वह एसएसपी दफ्तर पर भूख हड़ताल करेगी। कम्युनिस्ट नेता जितेन्द्र शर्मा ने भी अनीसा और फराज को पुलिस सुरक्षा दिए जाने की मांग की है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:प्यार तो पा लिया पर जिंदगी के लाले