DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महिला आरक्षण विधेयक पर भाजपा ने मारी पलटी

महिला आरक्षण विधेयक पर भाजपा ने मारी पलटी

भाजपा ने महिला आरक्षण विधेयक पर अपने रुख में बदलाव का संकेत दिया। पार्टी ने कहा कि वह चुनाव आयोग के उस प्रस्ताव का समर्थन करती है जिसमें महिलाओं को 33 प्रतिशत टिकट देने की बाध्यता राजनीतिक दलों की होगी।

लोकसभा और विधानसभाओं में महिलाओं को 33 प्रतिशत आरक्षण देने संबंधी विधेयक पर आम राय बनाने के लिए सरकार द्वारा सोमवार को यहां बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में भाजपा की ओर से भाग लेने के बाद विपक्ष की नेता सुषमा स्वराज ने यह बात कही। उन्होंने कहा कि हम महिला आरक्षण विधेयक में कोटा के भीतर कोटा को पूरी तरह अस्वीकार करते हैं। हम पूर्व में मुख्य चुनाव आयुक्त के रूप में सुझाए गए एम एस गिल के उस फार्मूले को समर्थन देंगे जिसमें चुनाव में महिलाओं को 33 प्रतिशत टिकट देना राजनीतिक दलों के लिए अनिवार्य होगा।

कई दशक के इंतजार के बाद संसद का एक सदन, राज्यसभा महिला आरक्षण विधेयक को उसके मूल रूप में मंजूरी दे चुका है जिसमें भाजपा ने भी पूरा सहयोग किया था।

राज्यसभा में विधेयक पारित होने से पहले उसपर हुई चर्चा में भाग लेते हुए सदन में विपक्ष के नेता अरुण जेटली गिल फार्मूले के विरोध में बोले थे। अपने तर्क में उन्होंने कहा था कि ब्रिटेन में यह फार्मूला सफल नहीं हुआ, क्योंकि पार्टियां महिलाओं को उन निर्वाचन क्षेत्रों से टिकट देती हैं जहां से उनके जीतनी की संभावना नहीं होती। उन्होंने कहा कि इसीलिए ब्रिटेन के हाउस आफ कामन्स में महिलाओं का प्रतिनिधित्व नहीं बढ़ पाया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:महिला आरक्षण विधेयक पर भाजपा ने मारी पलटी