DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्वतंत्र डिग्री कॉलेज की संबद्धता खत्म होगी

लखनऊ विश्वविद्यालय की प्रवेश व परीक्षा समिति की रविवार को हुई आपात बैठक में स्वतंत्र गर्ल्स डिग्री कॉलेज की संबद्धता खत्म करने का फैसला किया गया। इस पर अंतिम मुहर लगाने के लिए जल्दी ही लविवि की कार्यपरिषद की बैठक बुलाई जाएगी। इस कॉलेज में बीकॉम प्रथम वर्ष में जिन 126 छात्रओं को बिना मान्यता के दाखिला दिया गया था उन्हें फिलहाल लविवि ने प्रोविजनल दाखिला दे दिया है। स्वतंत्र कॉलेज का परीक्षा केन्द्र भी निरस्त कर दिया गया है। अब बीकॉम के साथ ही बीए प्रथम व बीएससी प्रथम वर्ष की छात्राएँ भी महाराजा बिजली पासी डिग्री कॉलेज में परीक्षाएँ देगी। परीक्षा के बाद इस कॉलेज की सभी छात्राओं को एपी सेन मेमोरियल गर्ल्स डिग्री कॉलेज में समायोजित किए जाने पर सैद्धांतिक सहमति बन गई है। इसके लिए एपी सेन कॉलेज में सीटें बढ़ाई जाएँगी। प्रवेश समिति परीक्षाओं के बीच में ही सीटें बढ़ाने के लिए बैठक कर लेगी। ताकि छात्राओं की मार्कशीट पर कॉलेज का नाम अंकित किया जा सके।

रविवार को प्रवेश व परीक्षा समिति की बैठक लविवि के कुलपति प्रो. मनोज कुमार मिश्र की अध्यक्षता में हुई। बैठक में सभी संकायों के डीन और शिक्षक संघ के पदाधिकारी शामिल हुए। सभी ने एक स्वर में कहा कि अगर कॉलेज के खिलाफ कड़े कदम न उठाए गए तो गलत संदेश जाएगा। लविवि प्रशासन पहले ही कॉलेज के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज करा चुका है।

29 मार्च वाला पेपर अब बाद में
स्वतंत्र गर्ल्स डिग्री कॉलेज की बीकॉम की छात्राओं की 29 मार्च को हुई परीक्षा बाद में होगी। इस कॉलेज ने बिना मान्यता के ही छात्राओं को पहला पेपर मनमाने ढंग से दिलवा दिया था। लविवि ने प्रवेश पत्र व पर्चे नहीं दिए तो इसने दूसरे कॉलेज के रोल नंबर बाँटकर और मौखिक व ब्लैक बोर्ड पर लिखकर गलत ढंग से पेपर करवा दिया था। छात्राएँ आठ अप्रैल को होने वाला दूसरा पेपर अब महाराजा बिजली पासी डिग्री कॉलेज में देंगी। छात्राओं को रोल नंबर देने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। छात्राओं को कोई दिक्कत नहीं होगी। बस वह अपने साथ दाखिले से संबंधित साक्ष्य अवश्य रखें।

खुशी से झूमीं छात्राएँ
लविवि के फैसले की जानकारी पाते ही स्वतंत्र गर्ल्स डिग्री कॉलेज की बीकॉम प्रथम वर्ष की छात्राएँ खुशी से झूम उठीं। बीकॉम प्रथम वर्ष की छात्रा अंजलि सिंह ने कहा कि लविवि इस धोखेबाज कॉलेज के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करे। यह कॉलेज शिक्षा का मंदिर बनने लायक कतई नहीं है। अन्य छात्राओं ने भी ऐसी प्रतिक्रिया व्यक्त की।

बैठक में खास
- बीकॉम प्रथम वर्ष की छात्राओं को प्रोविजनल दाखिला मिला। सभी छात्राओं की अर्हता का सत्यापन होगा
- बीकॉम के साथ ही बीए व बीएससी की छात्राएँ अब महाराजा बिजली पासी डिग्री कॉलेज में परीक्षा देंगी

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:स्वतंत्र डिग्री कॉलेज की संबद्धता खत्म होगी