DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सीबीएसई ने दिया ग्रेड सुधारने का मौका

कम्पार्टमेंट या फेल करने पर पाबंदी लगाने के बाद केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने नौंवी और दसवीं के छात्रों को अपनी ग्रेडिंग सुधारने की मौका देने की घोषणा की है। बोर्ड के परीक्षा नियंत्रक एमसी शर्मा की ओर से जारी सर्कुलर के अनुसार नौंवी कक्षा के छात्र को जहां एक मौका दिया जाएगा, वहीं 10वीं के छात्र को पांच मौके मिलेंगे।

घोषित नियमों के अनुसार अगर किसी छात्र ने नौंवी में किसी विषय और विषयों में ई1 या ई2 ग्रेड हासिल किया है तो वे दूसरे समेस्टिव असेसमेंट में अपना ग्रेड सुधार सकते हैं। जब तक छात्र अपना ग्रेड नहीं सुधारते, उन्हें दसवीं में दाखिला नहीं मिलेगा। बता दें कि अगली कक्षा में जाने से पहले न्यूनतम डी ग्रेड हासिल करना जरूरी है। अगर री-टेस्ट में छात्र डी या इससे ऊपर का ग्रेड हासिल कर लेता है तो उसे अगली कक्षा में दाखिला मिल जाएगा।

जहां तक 10वीं की बात है, छात्रों को यहां ग्रेड सुधारने की खातिर 5 मौके मिलेंगे। नौंवी के छात्रों को अपने ग्रेड सुधारने का मौका परीक्षा का परिणाम घोषित होने के एक महीने बाद स्कूल को देना होगा। बोर्ड की ओर से उपलब्ध कराए गए पेपरों के आधार पर ही स्कूल को नया पेपर तैयार कर ग्रेड सुधारने वाले छात्रों की खातिर परीक्षा आयोजित करने को कहा गया है।

पीएमटी में हर गलत उत्तर पर कटेगा एक नंबर
सीबीएसई की ओर से शनिवार को आयोजित की गई ऑल इंडिया प्री-मेडिकल/प्री डेंटल परीक्षा में प्रत्येक गलत उत्तर देने पर एक अंक काटा जाएगा। सही उत्तर पर 4 अंक दिए जाएंगे। प्रश्न का उत्तर नहीं दिए जाने पर कोई अंक नहीं काटा जाएगा। परीक्षा नियंत्रक की ओर से इस बात की जानकारी दी गई है। परीक्षा में कुल 200 प्रश्न पूछे गए थे। प्रत्येक प्रश्न के 4 अंक हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सीबीएसई ने दिया ग्रेड सुधारने का मौका