DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिहार का युवा विदेश में दिखाएगा प्रतिभा

कंकड़बाग का 20 वर्षीय युवक श्वेताम्बर प्रकाश दास को विदेशी धरती पर अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाने का मौका मिला है। पटना विश्वविद्यालय से भौतिकी में मास्टर्स डिग्री हासिल कर रहे श्वेताम्बर प्रकाश को मलेशिया और जर्मनी से बुलावा आया है। श्वेताम्बर बिहार के पहले व्यक्ति हैं जिन्हें विदेशी में आयोजित होने वाले दो कांफ्रेंस में जाने का मौका मिल रहा है।

श्वेताम्बर ने भौतिकी के कैओस थ्योरी पर रिसर्च किया है। इस रिसर्च पेपर को इंटरनेशनल कांफ्रेन्स ऑन अप्लाइड फीजिक्स एंड मैथेमेटिक्स ने प्रकाशित करने और इसके बाद पेपर प्रस्तुत करने के लिए क्वालालम्पुर, मलेशिया में आयोजित एक कांफ्रेंस में जाना है। इस कांफ्रेन्स का आयोजन सात से 10 मई तक किया गया है।
इसी रिसर्च पेपर को द लिंडायू मीटिंग ऑफ नोबेल लौरेट्स ने श्वेताम्बर का डीएसटी-डीएफजी अवार्ड के लिए चयन किया है। इस अवार्ड के लिए भारत से 22 युवा रिसर्चर्स का चयन हुआ और इन सभी को लिंडायू, जर्मनी में 27 जून से दो जुलाई तक आयोजित इंटरनेशनल मीटिंग में पेपर प्रस्तुत करना है। कंकड़बाग में रहने वाले श्वेताम्बर की शिक्षा पटना में पूरी हुई है। उन्होंने पटना साइंस कॉलेज से इंटर और स्नातक किया है। स्नातक के दौरान 2007 में उनका चयन टीआईएफआर, मुंबई और 2008 में इंडियन एकेडमी ऑफ साइंस, बंगलुरु में रिसर्च के लिए किया गया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बिहार का युवा विदेश में दिखाएगा प्रतिभा