DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारत, चीन हैं कारों के संसार के उभरते शहंशाह: रिपोर्ट

भारत, चीन हैं कारों के संसार के उभरते शहंशाह: रिपोर्ट

पिछले साल अमेरिका में कई बड़ी कार कंपनियों की खस्ताहाली के बीच भारत और चीन कारों के तेजी से फैलते बाजारों के रूप में उभरकर सामने आए हैं। अमेरिकी संसद की एक रिपोर्ट में इसे वैश्विक कार उद्योग के पुनर्गठन का संकेत बताया गया है।

अमेरिकी संसद की अनुसंधान सेवा द्वारा तैयार रिपोर्ट के अनुसार, जनरल मोटर्स का दुनिया की पहली नंबर की कंपनी से दूसरे स्थान पर खिसकना तथा चीन और भारत का कारों की खरीद या इस्तेमाल के मामले में तेजी से आगे बढ़ना वैश्विक कार उद्योग में बदलाव का संकेत है।

72 पृष्ठ की इस रिपोर्ट में भारत के टाटा समूह द्वारा जगुआर और लैंडरोवर के अधिग्रहण तथा दुनिया की सबसे सस्ती कार नैनो के लांच का भी उल्लेख किया गया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि नैनो में दुनिया में तहलका मचाने की क्षमता है। इस कार का अब धीरे-धीरे देश से बाहर निर्यात भी शुरू हो गया है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि भारतीय उपमहाद्वीप वाहन विनिर्माण के क्षेत्र में तेज निवेश के चरण की ओर अग्रसर है। यह रिपोर्ट 26 मार्च को जारी की गई थी। रिपोर्ट में कहा गया है कि सुजुकी, फोर्ड और टोयोटा जैसी कई कंपनियों ने आगामी वर्षों में भारत में वाहन संयंत्र स्थापित करने के लिए लाखों डालर के निवेश की योजना बनाई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भारत, चीन हैं कारों के संसार के उभरते शहंशाह: रिपोर्ट