DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अच्छा प्रदर्शन करने वालों को मिलने चाहिए मौके: राजपाल

अच्छा प्रदर्शन करने वालों को मिलने चाहिए मौके: राजपाल

विश्व कप में फ्लाप रहे दीपक ठाकुर और प्रभजोत सिंह को बाहर करने के फैसले पर कोई टिप्पणी करने से बचते हुए भारतीय हाकी टीम के कप्तान राजपाल सिंह ने सोमवार को कहा कि अच्छा प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों को मौके मिलने चाहिए और फार्म हासिल करने के लिये इस तरह के ब्रेक से फायदा होगा।

राजपाल ने कहा कि चयन का काम हाकी इंडिया और चयनकर्ताओं का है और उसके बाद टीम बनाना कोच का काम है। मुझे लगता है कि जो भी अच्छा खेले, उसे मौका दिया जाना चाहिए लिहाजा अजलान शाह के लिए कई युवा खिलाड़ियों को संभावितों में शामिल किया गया है।

हाकी इंडिया ने अजलान शाह कप के लिए 45 संभावित खिलाड़ियों का चयन किया है जो 13 अप्रैल से पुणे के बलेवाड़ी में लगने वाले शिविर में भाग लेंगे। इनमें भारतीय टीम के सबसे अनुभवी खिलाड़ियों में शुमार फारवर्ड प्रभजोत और दीपक का नाम नहीं है।

राजपाल ने हालांकि इस बात से इंकार किया कि दोनों खिलाड़ियों के लिए रास्ते बंद हो चुके हैं। उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि उन्हें ब्रेक दिया गया है। अजलान शाह के बाद बाकी टूर्नामेंटों में वे नए सिरे से तरोताजा होकर खेल सकेंगे। इससे आगे के टूर्नामेंटों में भारतीय टीम को फायदा होगा।

अजलान शाह कप में फाइनल तक पहुंचने को पहला लक्ष्य बताते हुए राजपाल ने कहा कि विश्व कप से टीम ने सकारात्मक पहलुओं को लिया है और किसी का मनोबल गिरा नहीं है। उन्होंने कहा कि विश्व कप से हमने सकारात्मक चीजें ली है। हमारा मनोबल गिरा नहीं है और हम आगे टूर्नामेंटों में अच्छा खेलेंगे।

इस स्टार स्ट्राइकर ने कहा कि गत चैम्पियन होने के नाते अजलान शाह में हमसे अपेक्षाएं होंगी लेकिन बाकी टीमें भी पूरी तैयारी से आएंगी लिहाजा हमारा पहला लक्ष्य फाइनल तक पहुंचना होगा। उन्होंने कहा कि विश्व कप के बाद मुख्य कोच जोस ब्रासा ने कहा था कि उनके पास चयन के लिए ज्यादा विकल्प नहीं थे लेकिन अब उन्हें बड़ा पूल दिया गया है जो अच्छा संकेत है।

उन्होंने कहा कि ब्रासा ने कहा था कि उनके पास चयन के ज्यादा विकल्प नहीं थे। अब उनके पास काफी बड़ा पूल है और वह अपने हिसाब से टीम बना सकते हैं। उम्मीद है कि राष्ट्रमंडल खेलों और एशियाड के लिए बेहतरीन टीम वह तैयार कर सकेंगे।

विश्व कप में आठवें स्थान पर रहने के बाद राजपाल ने कहा था कि वह चाहते हैं कि साल के आखिर में होने वाले दोनों अहम टूर्नामेंटों में यही टीम खेले। बड़े टूर्नामेंटों में तीन ड्रैग फ्लिकर लेकर उतरने की रणनीति को भी परोक्ष रूप से गलत ठहराते हुए उन्होंने कहा कि आस्ट्रेलिया के पास ल्यूक डोरनर और हालैंड के पास ताइके ताकेमा के रूप में एक-एक ही ड्रैग फ्लिकर था और दोनों ने सर्वाधिक गोल दागे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अच्छा प्रदर्शन करने वालों को मिलने चाहिए मौके: राजपाल