DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

धार्मिक पुस्तकें साफ-सुथरी जगह पर ही रखें

मेरी गाड़ी के पुर्जे इत्यादि रखने की दुकान है। काम अच्छा चलता है और आमदनी भी ठीक है, परंतु कुछ दिनों से मेरा पुराना स्टॉक है वह नहीं बिक रहा है। क्या कोई उपाय है?
-चेतन्या, तिमारपुर

जो पुराना स्टॉक नहीं बिक रहा है, उसे दुकान के उत्तर-पश्चिम में रख दें। यह वायु का स्थान होता है। शीघ्र ही इसका परिणाम मिलेगा। उत्तर-पश्चिम दिशा देखने के लिए दिशा-सूचक का प्रयोग करें।

हमने गुड़गांव में मार्च में एक प्लॉट लिया है। परन्तु आर्किटेक्ट ने बताया कि प्लॉट का उत्तर-पूर्व व दक्षिण-पश्चिम भाग कटा हुआ है। क्या वास्तु अनुसार यह सही नहीं है?
-रतिका, गुड़गांव

ऐसे प्लॉट में थोड़ी परेशानी रहेगी। उत्तर-पूर्व कटा होने से घर में उन्नति के अवसरों की कमी रहेगी तथा परेशानी भी आ सकती है। दक्षिण-पश्चिम हिस्सा कटा होने से मुखिया को समस्या का सामना करना पड़ेगा तथा व्यापार में भी दिक्कतें आएंगी। आप किसी वास्तु विशेषज्ञ को बुलाएं और इसका समाधान कराएं।

मेरी माताजी को धार्मिक पुस्तकें पढ़ने का बहुत शौक है तथा वह मुस्लिम धर्म व इसाई धर्म की पुस्तकें भी पढ़ती हैं। क्या यह सही है?                                   
-अंकिता, लखनऊ

दूसरे धर्म की पुस्तकें पढ़ना कोई बुरी बात नही है। परंतु ध्यान रहे कि धार्मिक पुस्तकों को साफ सुथरे व उचित स्थान पर रखना चाहिए, चाहे वे किसी भी धर्म से संबंधित हों।

परेशानियों को दूर करने के लिए अगर आप भी वास्तु या फेंग्शुई से संबंधित कोई सुझाव लेना चाहते हैं तो हमें इस पते पर लिखें : ‘इंटीरियर-एक्सटीरियर’, रीमिक्स, हिन्दुस्तान, एचटी हाउस, 18-20, कस्तूरबा गांधी मार्ग, नई दिल्ली-110001

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:धार्मिक पुस्तकें साफ-सुथरी जगह पर ही रखें