DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उर्दू मीडिया : जकिया की हिम्मत, सानिया की मोहब्बत

टेनिस सनसनी सानिया मिर्जा, जकिया जाफरी और वरिष्ठ आईपीएस अफसर अंजु गुप्ता इस वक्त उर्दू अखबारों की सुर्खियों में हैं। ऐसा कम होता है जब एक वक्त में कई महिलाएं कई दिनों तक उर्दू अखबारों में छाई रहें। अंजु गुप्ता और मरहूम एहसान जाफरी की विधवा जकिया जाफरी की हौसलेमंदी से लालकृष्ण आडवाणी और नरेंद्र मोदी जैसे दिग्गज और अक्खड़ भाजपा नेताओं की सियासी जिंदगी में भूचाल आया हुआ है।

जकिया की घेराबंदी के चलते मोदी को दंगाइयों की मदद करने के आरोप में सुप्रीम कोर्ट के विशेष जांच दल के सवालों के तीर करीब दस घंटे तक झेलने पड़े। उर्दू अखबार कहते हैं इससे उनके ‘गुरूर का सिर नीचा’ हुआ है। सानिया मिर्जा पाकिस्तानी क्रिकेटर शोएब मलिक से शादी का ऐलान कर कर इन दोनों महिलाओं से भी कई हाथ आगे निकल गई हैं।

उनके इस फैसले से दो पड़ोसी मुल्कों में खलबली मची हुई है। पाक मीडिया के प्रमुख घराने ‘जंग ग्रुप’ को लगता है इस शादी से मुंबई धमाके बाद दोनों मुल्कों के बीच आई दरार पाटने में मदद मिलेगी, जबकि इस धमाकेदार खबर को हिन्दुस्तानी और यहां का मीडिया पचा नहीं पा रहा। चिट्ठी लिखकर पाठक राय जाहिर कर रहे हैं- ‘सानिया का दिमाग चल गया है’, ‘आईपीएल ने ग्यारह पाक खिलाड़ियों को रिजेक्ट किया, सानिया ने पूरे हिन्दुस्तान को ही’, ‘सानिया पाकिस्तानी हो जाएंगी।’ अखबार उनके खेल और वैवाहिक जीवन को लेकर आशंकाएं जता रहे हैं।

‘सऊदी गजट’, ‘पंजाबी परांठा और हैदराबादी बिरयानी’ में कहता है-सानिया परंपरागत मुस्लिम घराने से ताल्लुक रखने के बावजूद स्कर्ट, टेनिस और लिव इन रिलेशनशिप के हक में बयान देकर उलेमाओं की नाराजगी झेलती रहीं। इसी तरह भारतीय होकर एक पाकिस्तानी से शादी करने का उनका फैसला भी चुनौतीपूर्ण है। 

अखबार कहता है-‘कामयाब शादी का मतलब यह नहीं कि बेहतर लाइफ पार्टनर मिल जाए। बेहतरीन पार्टनर बनने में ही कामयाबी है।’ ‘सहाफत’ अपनी एक रिपोर्ट में पाक क्रिकेटर इमरान खान और मोहसिन खान का उदाहरण देते हुए कहता है-उन्होंने बालीवुड अदाकारा जीनत अमान और रीना राय से संबंध कायम करने के बावजूद उन्हें ज्यादा समय तक अपने करीब नहीं रहने दिया।

पाक के ‘जंग’ में शोएब मलिक की मां नूर मलिक के हवाले से कहा गया है कि वह शादी के बाद सानिया को पाकिस्तान में घर बसाते देखना चाहती हैं। उन्हें सानिया का स्कर्ट पहनना, टेनिस खेलना, विदेशी दौरा करना और गैरमर्दो से घुलना-मिलना बिल्कुल पसंद नहीं। इसके चलते संदेह पैदा हो गया है शादी के बाद सानिया का टेनिस कोर्ट में उतरना शायद ही मुमकिन हो।

सानिया की भी समझ में आ गया होगा कि भारत के मुस्लिम समाज में जितना खुलापन है वह पाकिस्तान में नहीं। पाक अखबारों ने वहां के टेनिस एसोसिएशन के मुखिया दिलावर अब्बास के हवाले खबर दी है शादी के बाद सानिया पाक टेनिस को बढ़ावा देने में अपना सक्रिय योगदान देंगी, जबकि ‘हमारा समाज’ भारतीय टेनिस एसोसिएशन के महासचिव अनिल खन्ना के हवाले से कहता है-सानिया और उसके परिजनों ने शादी के बाद भी राष्ट्रमंडल खेलों, एशियन गेम्स, फेडरेशन कप और लंदन ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व करने का वादा किया है।

पाक का नाम आते ही अपने स्वभाव के अनुरूप शिव सेना भी इस विवाद में कूद पड़ी है। अखबारों ने सामना के हवाले से सवाल उठाया है-शादी के बाद सानिया पाकिस्तानी हो जाएंगी तो वह भारत के लिए कैसे खेल पाएंगी? भारत और पाक के उर्दू अखबारों में मुंबई, बरेली और तमिलनाडु में हिंदू संगठनों के सानिया की शादी के विरोध में उनका पोस्टर जलाए जाने की तस्वीरें शाया की गई हैं।

भारत के कई उर्दू अखबारों ने सानिया-शोएब की शादी के फैसले पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। मुंबई से प्रकाशित ‘इंकलाब’ ने इसकी आलोचना में लंबा चौड़ा संपादकीय लिख डाला। अखबारों की मानें तो पिछले छह महीने से मुहब्बत में गिरफ्तार सानिया ने शोएब को पाने की खातिर अपने बचपन के दोस्त सोहराब मिर्जा की मंगनी तोड़ दी, जबकि हैदराबाद की आयशा सिद्दीकी से निकाह करने और बिना तलाक दिए दूसरी शादी करने के शोएब के फैसले को भी गलत ठहराया जा रहा है।

‘शोएब का हैदराबादी इश्क’ में एक अखबार ने उनकी पहली शादी के सबूत के तौर कई पुरानी तस्वीरें छापी हैं। एक अखबार ने दावा किया है शादी से पहले शोएब सानिया के घुमाने-फिराने पर करीब सोलह करोड़ रुपए खर्च कर चुके हैं। रोजनामा ‘राष्ट्रीय सहारा’ ने ‘बहुत पुराना है सानिया और क्रिकेट का कनेक्शन’ में शोएब और सानिया को दूर का रिश्तेदार बताया है। आजादी से पहले इनके एक करीबी रिश्तेदार गुलाम अहमद भारत के लिए क्रिकेट खेला करते थे।

लेखक हिन्दुस्तान से जुड़े हैं

malik_hashmi64@yahoo.com

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:उर्दू मीडिया : जकिया की हिम्मत, सानिया की मोहब्बत